‘तू कौन है तेरा नाम है क्या,सीता भी यहां बदनाम हुई’ : रिया चक्रवर्ती

नई दिल्ली | मनमोहक मुस्कान वाली अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने यूं तो अभी चंद फिल्में ही की हैं, लेकिन अपनी सुंदरता और अभिनय कौशल के दम पर उन्होंने दर्शकों के बीच अपनी एक अलग पहचान बना ली है। अन्य अभिनेताओं और अभिनेत्रियों की तरह रिया भी ट्रोलर्स के निशाने पर आ चुकी हैं लेकिन रिया का कहना है कि अब वह पहले के मुकाबले अधिक मजबूत हो गई हैं और वह अब ट्रोल्स की परवाह नहीं करतीं।

रिया ने हालिया रिलीज फिल्म ‘जलेबी’ में महेश भट्ट के प्रोडक्शंस में काम किया था। महेश भट्ट के साथ काम करने के अनुभव के बारे में पूछे जाने पर रिया ने आईएनएस को बताया, “भट्ट साहब एक जादुई शख्सियत हैं। वह बहुत अधिक ऊर्जावान हैं। फिल्म ‘जलेबी’ की शूटिंग के दौरान हम 14 घंटे तक काम करने के बाद पूरी तरह थक जाते थे लेकिन महेश भट्ट हमेशा ऊर्जा से भरपूर नजर आते थे। मैं कहना चाहूंगी कि वह केवल प्रवचन नहीं देते, बल्कि वह जो कहते हैं उसे करते भी हैं। उन्होंने हमें जीवन को व्याहारिक रूप से सिखाया है।”

रिया कहती हैं, “वह आपसे केवल काम से काम नहीं रखते हैं, बल्कि काम न होने पर भी वह आपसे पूछेंगे कि आप कहां से हैं.. क्या कर रहे हैं..अच्छा दिल के दर्द तो सुनाकर जाओ..वह बहुत ही सच्चे इंसान हैं।” रिया ने सोशल मीडिया पर कुछ समय पहले महेश भट्ट के साथ अपनी तस्वीरें साझा की थीं जिसके लिए उन्हें काफी ट्रोल किया गया था। इस पर रिया ने ट्रोलर्स को मुंहतोड़ जवाब भी दिया था। क्या रिया खुद को ट्रोल किए जाने से प्रभावित होती हैं? इस पर रिया कहती हैं, “मैं पहले इन सबकी परवाह करती थी..अब नहीं। मुझे जब ट्रोल किया गया था तो मैंने ट्रोलर्स को ढंग से जवाब दिया था, ‘तू कौन है तेरा नाम है क्या,सीता भी यहां बदनाम हुई।’ अब मेरे लिए यह सब बहुत अधिक मायने नहीं रखता है और न ही मैं इनकी परवाह करती हूं।”

बांग्ला फिल्म ‘प्रकटन’ की रीमेक ‘जलेबी’ में रिया के साथ वरुण मित्रा नजर आए थे। इसके साथ ही टेलीविजन शो ‘एक वीर की अरदास..वीरा’ की दिगांगना सूर्यवंशी भी फिल्म का हिस्सा थीं। क्या महेश भट्ट के साथ काम करने के दौरान किसी तरह की चुनौती महसूस हुई, इस पर रिया ने कहा, “बहुत सारी चुनौतियां आईं। वह बहुत आसान इंसान नहीं हैं। उनके साथ काम करने के दौरान आपको अपना शत-प्रतिशत देना पड़ता है। चूंकि उनका भावनाओं को महसूस करने का पैमाना काफी बड़ा है, इसलिए आपको किसी किरदार को करते वक्त उस पैमाने तक की भावनाओं को महसूस करना और उन्हें पर्दे पर उतारना होता है।”

देश में ‘मी टू मूवमेंट’ की मुहिम चल रही है, इस बारे में रिया कहती हैं, “मैं इस मूवमेंट का पूरा समर्थन करती हूं। साथ ही मैं उन महिलाओं और लड़कियों का भी पूरा समर्थन करती हूं जिन्होंने ऐसा करने की हिम्मत दिखाई। मैं बहुत खुश हूं कि अब महिलाएं बोल रही हैं। मैं इस मुहिम का हिस्सा बनने वाली हर महिला पर गर्व करती हूं। लोग बहादुरी के साथ आगे आ रहे हैं। उन्होंने जो महसूस किया है या झेला है, उस पर अपनी आवाज उठा रहे हैं। यह समय है जब हमें इस पर खड़ा होना ही पड़ेगा।”

– साभार आईएएनएस