Baaghi 3 Review: टाइगर श्रॉफ का धांसू एक्शन, लेकिन कहानी में दम नहीं

रॉनी(टाइगर श्रॉफ) अपने भाई विक्रम(रितेश देशमुख) को लेकर काफी प्रोटेक्टिव रहता है। रोनी का भाई एक दिन सीरिया में फंस जाता है और फिर उसे बचाने के लिए रॉनी पूरे देश से भिड़ता है। अब इस लड़ाई में उसकी जीत होती है या हार ये तो आपको फिल्म देखकर पता चलेगा।

डायरेक्टर अहमद खान ने हर ट्रिक को अपनाया है बागी 3 को फुल एक्शन फिल्म बनाने के लिए। टाइगर ने एक से बढ़कर एक जबरदस्त एक्शन सीन दिए हैं जिसे देखकर आप भी तालियां बजाएंगे। हालांकि वह इमोशनल और कॉमेडी सीन्स में थोड़े कच्चे रहे। श्रद्धा कपूर काफी ग्लैमरस नजर आ रही हैं और फर्स्ट हाफ में उनके कॉमिक सीन काफी मजेदार हैं। लेकिन फिल्म की कहानी के हिसाब से उनका किरदार ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं है इसलिए वह फिल्म में कम दिखीं।

रितेश देशमुख का फिल्म में महत्वपूर्ण किरदार है। हालांकि ये चीज क्लीयर नहीं हुई कि वह बच्चे जैसाबिहेव क्यों करते हैं, क्यों उन्हें हमेशा प्रोटेक्टेड रखा जाता है। इतना ही नहीं, स्टोरी के कुछ अजीबोगरीब अंत दर्शकों को कन्विन्स करने में कामयाब नहीं दिख रहे हैं। सीरिया का सेटअप काफी दमदार है, लेकिन जो मेन विलन (अबू जलाल) है उसे छोड़कर बाकी विलन में दम ही नहीं है। अबू जलाल का किरदार जमील खोरी ने निभाया है और उनकी एक्टिंग बेहतरीन रही। फिल्म का म्यूजिक एवरेज है और फरहाद सामजी के कुछ डायलॉग ह्यूमर के लिए अच्छे हैं।