सहारनपुर में सपा नेता ने अफसरों को बंधक बनाकर पीटा, 10 के खिलाफ FIR

सहारनपुर । सहारनपुर में अंबाला रोड स्थित ढाबे पर जांच करने पहुंची खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की टीम को बंधक बना लिया गया। दो खाद्य सुरक्षा अधिकारियों के साथ मारपीट की गई। अन्य लोगों ने भागकर अपनी जान बचाई। इस मामले में सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष मजाहिर मुखिया और उनके बेटे एवं दस अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

बता दें कि, मंगलवार को खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के अभिहीत अधिकारी रणधीर सिंह के नेतृत्व में टीम ने समाजवादी पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष मजाहिर मुखिया के अंबाला रोड स्थित चीतल ढाबे पर छापा मारा। टीम ने खाद्य पदार्थों की जांच की और ढाबे का लाइसेंस मांगा तो हंगामा मच गया। आरोप है कि ढाबे पर मौजूद कर्मचारियों एवं ढाबा मालिक ने खाद्य सुरक्षा टीम को बंधक बना लिया और उन पर हमला कर दिया।

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के अभिहीत अधिकारी रणधीर सिंह ने आरोप लगाया कि सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष मजाहिर मुखिया और उनके बेटे ने दस अन्य कर्मचारियों के साथ मिलकर उनके साथ मारपीट की। खाद्य सुरक्षा अधिकारी मनोज कुमार एवं इंदल कुमार के साथ मारपीट की गई। खाद्य सुरक्षा अधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि उन्हें बंधक बनाकर सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष मजाहिर हसन, उसके बेटे और दस अन्य लोगों ने मारपीट की। उनके कपड़े फाड़ दिए। उनकी जेब में रखी नकदी छीन ली। उनके अभिलेख भी छीन लिए गए। 24 से 30 जून तक चल रहे चेकिंग अभियान के तहत वह कोल्डड्रिंक, दूध से बनी आइसक्रीम एवं अन्य खाद्य पदार्थों की जांच करने के लिए गए थे। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मजाहिर मुखिया समेत कई लोगों को हिरासत में लेकर कुतुबशेर थाना पहुंची। कुतुबशेर थाना पर काफी देर तक हंगामा होता रहा।