कांग्रेस ने शीला दीक्षित को सौंपी दिल्ली की कमान, पार्टी में आई नई जान

नई दिल्ली | पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। इसके साथ ही देवेन्द यादव, हारून यूसुफ और राजेश लिलोठिया को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है। कांग्रेस के दिल्ली मामलों के प्रभारी पी सी चाको ने बृहस्पतिवार को यह घोषणा की। पहले से ही अध्यक्ष के तौर पर जहां शीला दीक्षित का नाम सबसे आगे बताया जा रहा था। वहीं पूर्व पीसीसी अध्यक्ष जे पी अग्रवाल, राजेश लिलोठिया, योगानंद शास्त्री व देवेंद्र यादव का नाम भी चर्चा में था। शीला दीक्षित 1984 से 1989 तक कन्नौज से सांसद रह चुकी हैं। वह 1998 से 2013 तक (लगातार 15 साल) तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं।

हाल ही में अजय माकन ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था। माकन ने शीला को बधाई देते हुए कहा कि शीला दीक्षित जी को पुन: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने पर बधाई व शुभकामनाएँ। उन्होंने कहा कि उनके आधीन, मुझे संसदीय सचिव एवं कैबिनेट मंत्री के रूप में काम करके सीखने का सुअवसर मिला था। मुझे विश्वास है कि शीला जी की अगुआई में हम, मोदी और केजरीवाल की सरकारों के विरोध में एक सशक्त विपक्ष की भूमिका निभाएँगे।