अलीगढ़ में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, बाहर से बुलाई जाती थीं लड़कियां, 5 गिरफ्तार

अलीगढ | शहर में जिस्मफरोशी के धंधे का बड़ा पर्दाफाश हुआ है | बन्नादेवी थाना क्षेत्र के सारसौल में लम्बे समय से चल रहे एक सेक्स रैकेट का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। यह रैकेट जीजा-साला मिलकर चला रहे थे। छापामारी के दौरान दो युवतियों व तीन युवकों को हिरासत में लेकर मुकदमा दर्ज करने के पश्चात जेल भेज दिया गया है। थाना पुलिस को रविवार की देर रात सूचना मिली कि सारसौल स्थित एक मकान में सैक्स रैकेट चल रहा है। मकान में बंगाल समेत अन्य जगहों से युवतियों के साथ ग्राहक भी मौजूद हैं।

पुलिस मकान पर पहुंची तो खलबली मच गई। पुलिस की दबिश पड़ी तो युवतियों व युवकों को भागने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने सभी को पकड़ लिया। पुलिस ने मकान से एलमपुर निवासी, पश्चिमी बंगाल निवासी, साईं विहार सारसौल निवासी, लक्षिमपुर निवासी, एलमपुर निवासी शामिल हैं।

पुलिस पूछताछ में पता चला है कि बहनोई व साला यह दोनों मिलकर ही देह व्यापार का धंधा चला रहे थे। इन्होंने क्षेत्र के रहने वाले व्यक्ति से मकान किराये पर ले रखा था। यह देह व्यापार पिछले लंबे समय से चल रहा था। मकान में अक्सर बाहर से लड़कियां आती थीं। स्थानीय लोगों को शक हुआ तो उन्होंने पुलिस को सूचना दे दी। वहीँ, सारसौल के जिस मकान में देह व्यापार किया जा रहा था, पुलिस ने वहां से दर्जन भर मोबाइल बरामद किये हैं। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि अलग-अलग नंबरों से ग्राहकों को फोन कर बुलाया जाता था।

थाना प्रभारी बन्नादेवी रविंद्र दुबे ने बताया कि पुलिस ने सूचना के आधार पर सारसौल स्थित एक मकान पर छापा मारा था। जहां देह व्यापार में संलिप्त दो युवतियां व तीन युवकों को पकड़कर जेल भेज दिया है। पकड़ी गई एक युवती मूल रूप से बंगाल की रहने वाली है। लेकिन लम्बे समय से यूपी के नोएडा, कानपुर के बाद अब अलीगढ़ में रह रही थी।