सपा सरकार में जौहर ट्रस्ट को गलत तरीके से हुआ आवंटन, प्रशासन ने कराया कब्जा मुक्त, सपाइयों पर लटकी कार्रवाई की तलवार

सत्यम सक्सेना/रामपुर | यूपी में भाजपा सरकार के आने के बाद अब आजम खान पर शिकंजा कसता जा रहा है | सपा सरकार में गलत तरीके से जौहर ट्रस्ट कोआवंटित किये गए एक भवन को प्रशासन ने उसके असली हकदार तक पहुंचा दिया है | वहीँ सपाइयों द्वारा प्रदर्शन करने पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है | पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीना के आदेश पर सपाइयों के धरना-प्रदर्शन की जांच सीओ सिटी आशुतोष तिवारी ने शुरू कर दी है। पुलिस ने दो दिन पुलिस ने तहरीर का भी इंतजार किया, लेकिन तहरीर न मिलने पर जांच शुरू कर दी गई है।

जिलाधिकारी से कुछ दिन पहले मदरसा आलिया का भवन जौहर ट्रस्ट को दिए जाने की शिकायत की गई थी। इसमें कहा था कि यह भवन मदरसा आलिया और राजकीय ओरियंटल कालेज का था, लेकिन सपा सरकार में भवन गलत तरीके से जौहर ट्रस्ट को दे दिया गया था। इस पर डीएम ने सिटी मजिस्ट्रेट, एसडीएम सदर और तहसील की टीम को मौके पर भेजा था। अधिकारियों ने वहां जाकर नापतौल की थी, जिसकी जानकारी मिलने पर सपा कार्यकर्ता रात करीब दस बजे एकत्र हो गए थे। उन्होंने प्रशासनिक कार्रवाई का विरोध किया था। धरना-प्रदर्शन भी किया गया था।

सीओ सिटी आशुतोष तिवारी मौके पर पहुंचे थे, जिन्होंने सपाइयों से वार्ता कर धरना समाप्त कराया था। इस मामले में डीएम ने पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए थे। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करने के लिए दो दिन तहरीर का इंतजार किया। तहरीर न मिलने पर एसपी ने इसकी जांच शुरू कराई है। जांच सीओ सिटी को दी गई है, जिन्होंने जांच शुरू कर दी है।