आखिरकार सोनभद्र कांड के पीडि़तों से मिली प्रियंका वाड्रा, भाजपा सहित सपा-बसपा की बड़ा गयीं बेचैनी

मिर्जापुर | कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा सोनभद्र में दस लोगों की हत्या के बाद वहां धारा 144 लागू होने के बाद भी पीडि़तों से मिलने की जिद पर अड़ी रहीं। इसी बीच प्रियंका ने पीडि़त परिवार के रिश्तेदारों से मुलाकात की। गेस्ट हाउस के बाहर पीडि़तों ने कहा कि उन्हें गेस्ट हाउस आने से रोका जा रहा है, वे 15 लोग हैं और सिर्फ प्रियंका से मिलने आए हैं। महिलाएं भी आई हैं। प्रियंका ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, प्रशासन न हमें मिलने दे रहा है और पीडि़त परिवारों को भी यहां आने से रोक रहा है। इसी के साथ वह दोबारा धरने पर बैठ गई हैं। बताया जा रहा है कि केवल 2 लोगों को उनसे मिलने दिया गया। वे भी दोनों महिलाएं। पीडि़तों से मिलकर और उनके दर्द को सुनकर प्रियंका गांधी भावुक हो गईं।

प्रियंका के निजी सचिव संदीप ने बताया कि भीषण गर्मी में बार-बार बिजली कटौती से परेशान प्रियंका गेस्ट हाउस के दूसरी ओर अकेले टहलती रहीं। प्रियंका गांधी तड़के करीब साढ़े चार बजे सोने के लिए कमरे में गईं। चुनार किले के गेस्ट हाउस में कैद प्रियंका गांधी ने रात में उमस भरी गर्मी के बीच गेस्ट हाउस की कैंटीन का ही भोजन किया। प्रियंका को मनाने के लिए मिर्जापुर और वाराणसी मंडलों के मंडलायुक्त शनिवार देर रात वहां पहुंचे। इनके साथ एडीजी पुलिस मौजूद रहे लेकिन वार्ता बेनतीजा साबित हुई। इसके बाद शनिवार सुबह से ही कार्यकर्ताओं का गेस्ट हाउस आना शुरू हो गया। प्रियंका वाड्रा ने रात को चुनार गेस्ट हाउस में दाल, चावल और सब्जी का ही भोजन किया। वहां पर अन्य कार्यकर्ताओं के लिए भोजन के पैकेट्स आए। कार्यकर्ताओं ने कहा, प्रियंका गांधी को गिरफ्तार करने के बाद वहां की बिजली पानी कटवा दी गई है, उन्हें देश की सर्वोच्च सुरक्षा प्राप्त है, भगवान न करे पर कोई अनहोनी होती है तो उसके लिए नेहरू जी नहीं भाजपा सरकार जिम्मेदार होगी। गेस्ट हाउस पर सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेस नेता पीएल पुनिया के साथ विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह तथा प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक जैसे नेता आगे की रणनीति तय कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) कानून-व्यवस्था पीवी रामाशास्त्री ने बताया, प्रियंका गांधी वाड्रा हिरासत में हैं। प्रियंका गांधी को शुक्रवार को एसडीएम ने सोनभद्र जाने से रोका था। एसडीएम ने अपने अधिकारों का प्रयोग करके उस इलाके में धारा 144 लगाई थी। धारा 144 का उल्लंघन करने पर प्रियंका गांधी को रोका गया है। फिलहाल प्रियंका गांधी को चुनार गेस्ट हाउस में हिरासत में रखा गया है। बॉन्ड भरने पर प्रियंका गांधी को छोड़ा जाएगा। उधर लोकल फॉल्ट के कारण चुनार गेस्ट हाउस की बिजली जाने से प्रियंका गांधी अंधेरे में ही कार्यकर्ताओं से मिलती रहीं।