झारखंड में पांच चरणों में मतदान, 23 दिसंबर को मिलेगा नया मुख्यमंत्री

नई दिल्ली | झारखंड में 81 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल अगले साल पांच जनवरी को समाप्त हो रहा है। जिसके लिए आज चुनाव आयोग ने तारीखों का ऐलान कर दिया। झारखंड की 81 विधानसभा सीटों पर पांच चरणों में चुनाव होगा।

झारखंड विधानसभा चुनाव-
पहला चरण- 30 नवंबर (13 सीटों के लिए चुनाव)
दूसरा चरण- 7 दिसंबर (20 सीटों के लिए चुनाव)
तीसरा चरण- 12 दिसंबर (17 सीटों के लिए चुनाव)
चौथा चरण- 16 दिसंबर ( 15 सीटों के लिए चुनाव)
पांचवा चरण- 20 दिसंबर ( 16 सीटों के लिए चुनाव)
23 दिसंबर को वोटों की गिनती होगी।
इसे भी पढ़ें: गुस्साए नक्सलियों ने झारखंड हजारीबाग तीन ट्रकों में आग लगाई

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि दो दिन के दौरे में झारखंड का जायजा लिया। झारखंड में 67 विधानसभा क्षेत्र नक्सल प्रभावित क्षेत्र हैं। जिसमें से 13 जिलें नक्सलवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। नक्सल प्रभावित इलाकों के लिए सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए हैं। इस बात की संभावना जताई जा रही थी कि आयोग झारखंड के साथ दिल्ली विधानसभा के चुनाव का कार्यक्रम भी घोषित करेगा। लेकिन आयोग ने सिर्फ झारखंड का चुनाव कार्यक्रम ही घोषित किया। दिल्ली विधानसभा का कार्यकाल अगले साल 22 फरवरी को पूरा होगा।

बता दें कि झारखंड में बीजेपी की सरकार है और झारखंड मुक्ति मोर्चा मुख्य विपक्षी पार्टी है। साल 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनी थी। साल 2014 में बीजेपी ने 37 सीटों पर जीत दर्ज की थी। इसके अलावा कांग्रेस कुछ खास नहीं कर पाई थी और वह छह सीटें जीतने में ही कामयाब हो पाई थी।

वहीं झारखंड मुक्ति मोर्चा 19 सीटें जीतने में सफल रही थी। बाबू लाल मरांडी की झारखंड विकास मोर्चा ने आठ सीटें हासिल की थीं। जिसके बाद बीजेपी ने झारखंड में सरकार बनाई और रघुवर दास झारखंड के छठे मुख्यमंत्री बने। 28 दिसंबर 2014 को मुख्यमंत्री का पद संभालने वाले रघुवर दास ने पांच बार विधानसभा चुनावों में जीत हासिल की है। पीएम नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह के काफी करीबी माने जाते हैं। इस बार विधानसभा चुनाव में उनके भी भाग्य का फैसला होना है।