सिर पर पट्टी लगाकर संसद पहुंचे धर्मेंद्र यादव, योगी सरकार में लाठीचार्ज के खिलाफ प्रदर्शन

नई दिल्ली | बजट सत्र के अंतिम दिन बुधवार को लोकसभा में समाजवादी पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों के हंगामे के कारण प्रश्नकाल नहीं चल सका। सदन की कार्यवाही शुरू होने के तुरंत बाद सांसद धर्मेन्द्र यादव  अपनी जगह पर खड़े हो गए और प्रयागराज में मंगलवार को पुलिस द्वारा अपने पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं पर किए गए लाठी चार्ज के मुद्दे को उठाया।

लोकसभा अध्यक्ष ने प्रदर्शन कर रहे सदस्यों को प्रश्नकाल के बाद बोलने देने की अनुमति दी और उन्होंने प्रश्नकाल शुरू कराया। हालांकि सपा के सदस्य आसन के समीप आकर नारेबाजी करने लगे। उनके हाथों में खबरों की कतरनें और मंगलवार के घटनाक्रम की तस्वीरें थीं। धर्मेंद्र यादव के सिर पर पट्टी बंधी हुई थी। सपा नेता मुलायम सिंह यादव भी अपने स्थान पर खड़े होकर कुछ कहने का प्रयास करते देखे गये। तृणमूल कांग्रेस के सदस्य भी आसन के समीप आकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे।

गौरतलब है कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को मंगलवार को इलाहाबाद विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम में शामिल होने की अनुमति नहीं दिये जाने के विरोध में सपा कार्यकर्ताओं की पुलिस के साथ झड़प हो गयी जिसमें सपा सांसद धर्मेंद्र यादव समेत कई छात्र और पुलिसकर्मी घायल हो गये।