CAA के विरोध में एएमयू छात्रों में आक्रोश व्यापत, काले कपड़े पहनकर निकाला मार्च, ब्लैक डे मनाया

अलीगढ | अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के बीच बुधवार को विद्यार्थियों ने ब्लैक डे मनाया। 15 दिसंबर को कैंपस में पुलिस द्वारा छात्रों पर लाठीचार्ज के विरोध में यह मार्च निकाला गया। विद्यार्थियों ने घायल छात्रों का दर्द दिखाने के लिए शरीर के विभिन्न अंगों पर मरहम पट्टियां बांधकर विरोध जताया। मार्च विवि के चुंगी गेट से शुरू होकर बाब ए सैयद गेट पहुंचकर सम्पन्न हुआ।

एएमयू में नागरिकता कानून के विरोध में विरोध प्रदर्शन जारी है। 15 दिसंबर को इसी विरोध प्रदर्शन के बीच छात्र जब एएमयू कैंपस से बाहर आ गये थे तो पुलिस ने छात्रों पर लाठी चार्ज कर दिया था। छात्रों का आरोप है कि पुलिस ने छात्रावासों में घुसकर छात्रों के कमरे में आंसू गैस के गोले छोड़े है। छात्रों की ओर से दोषी पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की लगातार मांग की जा रही है। उनका कहना है कि ऐसे पुलिस कर्मियों पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाए। हालांकि एक दिन पूर्व एएमयू प्रशासन की ओर से दोषी पुलिस कर्मियोंे के विरुद्ध थाने में तहरीर दी है। लेकिन पुलिस ने मामला कोर्ट में चलने का हवाला देते हुए फिलहाल मुकदमा दर्ज करने से इंकार कर दिया है। छात्रों ने पुलिस के लाठीचार्ज व आंसू गैस के गोले छोड़ने की निंदा करते हुए काला दिवस बनाया।

बाब-ए-सैयद गेट पर दिन भर विरोध प्रदर्शन किया गया। साथ ही दोपहर बाद छात्र-छात्राओं ने बड़ा विरोध मार्च निकाला। यह विरोध मार्च चुंगी गेट से बाब ए सैयद गेट तक निकाला गया। मार्च की खास बात यह थी कि छात्रों ने घायल छात्रों का दर्द बयां करने के लिए अपने शरीर पर मरहम पट्टिया लगाकर विरोध जताया। वीसी व रजिस्ट्रार विरोधी नारेबाजी की। आजादी के नारे लगाये। इंकलाब जिंदाबाद के नारे लगाते हुए बाब ए सैयद गेट पर घंटों तक प्रदर्शन किया। इस दौरान पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष फैजुल हसन, पूर्व छात्र संघ सचिव नबील उसमानी, आरिफ त्यागी, फरहान जुबैरी, जैद शेरवानी समेत बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं मौजूद रहे। आजादी के लगाये नारे विद्यार्थियों ने मार्च में आजादी के नारे लगाये। कहा कि हम आजादी लेकर रहेंगे। उन्होंने भाजपा विरोधी नारेबाजी भी की। वीसी व रजिस्ट्रार मुर्दाबाद के नारे भी लगाये। बोले कि विवि के दोनों अधिकारियों को इस्तीफा देना होगा।

कक्षाओं का तीसरे दिन भी रहा बहिष्कार-
एएमयू विद्यार्थियों ने कक्षाओं का तीसरे दिन भी बहिष्कार किया। विश्वविद्यालय के ज्यादातर छात्र दिन भर विरोध प्रदर्शन में लगे रहे। उन्होंने कहा कि सीएए जब तक वापस नहीं होगा, उनका विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा।