मूवी देखते समय नहीं होगा कोरोना का अब मल्टीप्लेक्स में डर !

नई दिल्ली | कोरोना वायरस ने मल्टीप्लेक्स चेन को भी तगड़ा झटका दिया है. लेकिन, अब लॉकडाउन के बाद आम लोगों का भरोसा जीतने और अपने कारोबार को एक बार फिर से शुरू करने के लिए कुछ मल्टीप्लेक्स लगातार कई प्रयास करने में जुटे हैं. इनका कहना है कि दो शो के बीच में ऑडिटोरियम को सेनिटाइज और डिसइन्फेक्ट किया जाएगा. साथ ही, बैठने की क्षमता को भी 30 फीसदी तक कम करेंगे. हालांकि, इस वजह से प्रति दिन उनके कुल शो की संख्या कम हो जाएगी और कुछ ही फिल्मों की स्क्रीनिंग कर पाएंगे.

बरते जाएंगे सभी जरूरी एहतियात-
इसके अलावा सभी दर्शकों की एंट्री से पहले इन्फ्रारेड स्कैनस से स्क्रीनिंग की जाएगी, मास्क पहनना अनिवार्य होगा और जरूरी जगहों पर हैंड सेनिटाइजर (Hand Sanitizer) भी उपलब्ध कराया जाएगा. टिकटिंग की सुविधा कॉन्टैक्टलेस की जाएगी और खाना व बीवरेज ऑनलाइन ऑर्डर किया जा सकता है. 3D फिल्मों के लिए सिंगल यूज 3D ग्लासेज का इस्तेमाल किया जाएगा.

शो की टाइमिंग में बदलाव-
कुछ जानकारों का कहना है कि मल्टीप्लेक्स खुलने के शुरुआती दिनों में बड़ी समस्या नहीं होगी क्योंकि इस बीच कम संख्या में फिल्में आएंगी. फिल्ममेकर भी दर्शकों के रिस्पॉन्स का इंतजार करेंगे. यह एक तात्कालिक समस्या है. कुछ मल्टीप्लेक्स Shows की टाइमिंग कुछ इस प्रकार रखने पर विचार कर रहे ताकि दो शोज के लिए एंट्री, एग्जिट और इंटरवल एक साथ न हो.

लाइवमिंट ने अपनी एक रिपोर्ट में कार्निवल ​सिनेमा के हवाले से​ लिखा गया है कि पहले एक दिन मेंं 5 शो प्रति स्क्रीन चलता था. ​अधिकतर फिल्में करीब 2 घंटे ही होती हैं और उन्हें इंटरवल और विज्ञापन के लिए भी समय देना होता है. लेकिन, अब वो प्रति स्क्रीन 1 शो कम करने पर विचार कर रहे हैं. कार्निवल सिनेमा (Carnival Cinema) का कहना है कि इससे उनके बिजनेस पर करीब 20 फीसदी तक का असर पड़ेगा. हालांकि, मुंबई जैसे कुछ ऐसे शहर हैं, जहां 24/7 मॉल्स और मल्टीप्लेक्स खोलने की इजाजत है, वहां ज्यादा दिक्कत नही आएंगी.

इस रणनीति पर विचार-
कार्निवल, PVR और INOX अब दर्शकों की सीटिंग क्षमता में भी 30 फीसदी तक कम करने पर विचार कर रहे हैं. मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (MAI) द्वारा भेजे गए एक नोटिफिकेशन के मुताबिक, परिवार और कपल्स एक साथ बैठ सकते हैं, लेकिन इन दोनों के बगल में एक-एक सीट को खाली छोड़ा जाएगा ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके. हालांकि, यह PVR Director’s Cut या INOX Insignia जैसे लग्जरी ऑडिटोरियम में ऐसा नहीं होगा, क्योंकि यहां पहले से ही दो सीटों के बीच पर्याप्त दूरी होती है.

पहली बार मल्टीप्लेक्सेज की रेवेन्यू जीरो-
केवल उन्हीं स्टाफ को काम करने की अनुमति दी जाएगी जो मेडिकली ​सर्टिफाइड और फिट हैं. उनके लिए आरोग्य सेतु ऐप, मास्क और ग्लव्स पहनना अनिवार्य होगा. मार्च के अंतिम सप्ताह से ही देशभर में फिल्म थियेटर्स बंद हैं. पहली बार ऐसा हो रहा कि बिल्कुल भी उनकी कमाई नहीं हुई है.