PM मोदी ने लोकतंत्र को किया मज़बूत, जनता दे और दस साल : जसीम मोहम्मद

अलीगढ़ | फ़ोरम फ़ोर मुस्लिम स्टडीज़ एंड अनालिसिस (एफ़एमएसए) और एएमयू के बुद्धिजीवीओ की बैठक ‘मज़बूत भारत’ विषय पर मीडिया सेंटर, अलीगढ़ में आयोजीत किया गया। “देश को अपने राष्ट्रीय, राजनीतिक, आर्थिक और सामरिक लक्ष्य हासिल करने के लिए दस साल तक मज़बूत, निर्णायक और स्थिर सरकार की अवशक्ता है। कमज़ोर गटबंधन देश के लिए बुरा साबित होगा” एनएसए अजीत डोभाल के बयान को मुस्लिम फ़ोरम और बुद्धीजीवी ने स्वागत किया। फ़ोरम के निदेशक डॉक्टर जसीम मोहम्मद ने कहा की आज अवशक्ता है ‘मज़बूत भारत’ की और NSA अजीत डोभाल की सोच और मंशा राजनीतिक नहीं बल्कि पूरी तरह राष्ट्रहित और राष्ट्र निर्माण के लिए ज़रूरत है।

डॉक्टर जसीम मोहम्मद ने कहा की पिछले चार साल में नरेंद्र मोदी के सरकार में देश की राष्ट्रीय इच्छाशक्ति मज़बूत हुई है। एनएसए अजीत डोभाल की बातों की सराहना करते हुए कहा कि देश की आर्थिक, राजनीतिक और सामरिक लक्ष्य हासिल करने के लिए कड़े फ़ैसले लेने होंगे और ये तभी होगा जब केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार अपने बहुमत से आए। डॉक्टर जसीम मोहम्मद ने सभी वर्गों से अपील की, आज समय आ गया है की जब एक विश्वनेता नरेंद्र मोदी को अपने अपने देश को मज़बूत करने के लिए साथ देनी चाहिए।

डॉक्टर फ़ारूक़ अली ने कहा की एनएसए अजीत डोभाल के बयान राष्ट्र के प्रगति को दर्शाता है और राष्ट्र निर्माण के लिए है।
समाजसेवी निकहत परवीन ने कहा की पिछले सरकारों के वर्षों में हमने देश की कमज़ोर गठबंधन के वजह से देश को नुक़सान हुआ है।
हनीफ़ क़ुरैशी ने कहा की एनएसए के बयान बिलकुल राजनीतिक नज़रिया से विपक्ष ना देखे और ना मीडिया दिखाये। अब राष्ट्र की निर्माण में देश की जनता को दस वर्षों के लिए मोदी सरकार को देश चलाने की जनता मन बना लें। डॉक्टर कपिल कुमार ने कहा की खण्डित जनादेश से देश की सरकार मज़बूत निर्णय नहीं ले पाती और मोदी सरकार एक मज़बूत सरकार के रूप में काम कर रही है। अंत में मुस्लिम फ़ोरम ने एनएसए अजीत डोभाल के बयानो को राष्ट्र निर्माण को मज़बूत करने का हिस्सा बताया।अजीत डोभाल आज के राजनीति से हठकर कर रहे हैं काम। देश से अपील की है की देश की जनता केंद्र में मोदी सरकार को लाने हेतु संकल्प लें।