दिल्ली पुलिस-वकीलों में टकराव फिर शुरू, सोमवार से फिर हड़ताल पर रहेंगे अधिवक्ता

नई दिल्ली । तीस हजारी कोर्ट में गत 2 नवंबर को वकीलों और पुलिस के बीच बवाल का मुद्दा फिर से तूल पकड़ता दिख रहा है। बार काउंसिल ऑफ इंडिया (बीसीआई) ने बीते शुक्रवार को ही वकीलों की हड़ताल 10 दिन के लिए स्थगित करने का संदेश दिया था, लेकिन अब तीस हजारी बार एसोसिएशन ने आरोपी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी होने तक सोमवार से फिर से हड़ताल करने की घोषणा कर दी है। इस फैसले का असर दिल्ली की अन्य अदालतों की बार एसोसिएशनों पर भी पड़ता दिख रहा है।

तीस हजारी बार एसोसिएशन के अध्यक्ष एनसी गुप्ता ने रविवार को कहा कि वकील पर गोली चलाने के आरोपी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी पर दिल्ली पुलिस कोई जवाब नहीं दे रही है। जिला अदालतों की कॉर्डिनेशन कमेटी ने बीसीआई के आश्वासन पर हड़ताल 10 दिन के लिए स्थगित करने पर सहमति जताई थी, लेकिन इस मामले में पुलिस का रवैया देखकर वकील चिंता में हैं। बीसीआई के हड़ताल 10 दिन के लिए स्थगित करने के दो दिन बीतने के बाद भी दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की ओर से कोई कार्रवाई होती नहीं दिख रही है। इसलिए तीस हजारी अदालत में सोमवार से फिर वकीलों की हड़ताल शुरू होगी।

उधर, जिला अदालतों की कॉर्डिनेशन कमेटी के सचिव धीर सिंह कसाना ने कहा कि वकील पर चली गोली के मुद्दे पर बीसीआई ने 12 सदस्यीय कमेटी का गठन किया था। इस कमेटी को जिस उद्देश्य के लिए बनाया गया था, वह अधर में ही है। इसी कारण तीस हजारी कोर्ट की बार एसोसिएशन ने फिर से हड़ताल की घोषणा कर दी है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में उपराज्यपाल से मुलाकात की कोशिश की जा रही है। यह कोशिश सफल हुई तो हड़ताल को रोका भी जा सकता है। अगर उन्हें मुलाकात के बाद कोई बेहतर नतीजा नहीं मिला तो दिल्ली की अन्य निचली अदालतों में भी हड़ताल शुरू की जा सकती है।