मुलायम भाई, आपके सामने रामपुर की द्रौपदी का चीरहरण हो रहा, भीष्म मत बनिए : सुषमा स्वराज

नई दिल्ली । लोकसभा चुनाव 2019 के सियासी हलचल के बीच समाजवादी पार्टी के नेता और रामपुर से सपा उम्मीदवार आजम खान ने जयाप्रदा के खिलाफ ‘खाकी अंडरवियर’ वाला अपमानजनक टिप्पणी कर माहौल को और गरम कर दिया है. केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज ने बीजेपी नेता और रामपुर से उम्मीदवार जयाप्रदा के खिलाफ आजम खान की वाहियात टिप्पणी की आलोचना की है. इतना ही नहीं, सुषमा स्वराज ने आजम खान के इस बयान के लिए मुलायम सिंह यादव पर हमला बोला है और उन्हें भीष्म की तरह मौन साधने की गलती न करने की सलाह दी है. बता दें कि रविवार को एक रैली के दौरान आजम खान ने बिना नाम लिए जयाप्रदा के खिलाफ खाकी अंडरवियर वाला बयान दिया था


सुषमा स्वराज ने अपने ट्विटर हैंडल पर मुलायम सिंह यादव का नाम लेकर लिखा- ‘मुलायम भाई, आप पितामह हैं समाजवादी पार्टी के. आपके सामने रामपुर में द्रौपदी का चीर हरण हो रहा है. आप भीष्म की तरह मौन साधने की गलती मत करिये.’ सुषमा स्वराज ने अपने ट्वीट में अखिलेश यादव और उनकी पत्नी डिंपल यादव और जया बच्चन के नाम का भी उल्लेख किया है और इस मसले पर ध्यान आकर्षित कराने की कोशिश की है. बता दें कि सुषमा स्वराज ने अपने ट्वीट में जिस द्रौपदी का नाम लेकर महाभारत के उस घटना का जिक्र किया है, उसमें पांडवों की रानी द्रौपदी का कौरव चीरहरण करते हैं और उस दौरान भीष्म पितामह मौन साधे हुए रहते हैं. दरअसल, आजम खान जिस वक्त यह आपत्तिजनक टिप्पणी कर रहे थे, उस वक्त उस मंच पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी मौजूद थे.

जयाप्रदा की प्रतिक्रिया:
जयाप्रदा ने कहा कि उनके लिए यह नई बात नहीं है. साथ ही कहा कि मुझे नहीं पता कि मैंने उनके साथ ऐसा क्या कर दिया कि वे ऐसी बातें कर रहे हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए जयाप्रदा ने कहा, ‘यह मेरे लिए नया नहीं है. आपको याद होगा कि मैं 2009 में उनके पार्टी की उम्मीदवार थी, जब उन्होंने मेरे खिलाफ टिप्पणी की तो किसी ने भी मेरा समर्थन नहीं किया. मैं एक महिला हूं और जो उन्होंने कहा वह मैं दोहरा भी नहीं सकती. मुझे नहीं पता कि मैंने उनके साथ क्या किया है, जो वे ऐसी बातें कह रहे हैं.’

आजम खान पर एफआईआर:
आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर आजम खान के खिलाफ FIR दर्ज हो गई है. आजम खान ने इस टिप्पणी को लेकर सफाई भी दी है. आजम खान ने सोमवार को स्पष्ट किया कि उन्होंने फिल्म अभिनेत्री और बीजेपी उम्मीदवार जयाप्रदा के खिलाफ किसी तरह की आपत्तिजनक टिप्पणी नहीं की है.

महिला आयोग सख्त:
इस मामले पर महिला आयोग ने भी सख्ती दिखाई है. महिला आयोग ने इस पर संज्ञान लेते हुए आजम खान को नोटिस जारी किया है. वहीं राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा, “वह हमेशा महिलाओं के बारे में गंदी बातें करते हैं, और इस चुनाव में महिला राजनेताओं के खिलाफ यह उनकी दूसरी टिप्पणी है… राष्ट्रीय महिला आयोग ने स्वतः संज्ञान लिया है, और उन्हें नोटिस भेज रहे हैं… हम चुनाव आयोग से भी कड़ी कार्रवाई करने के लिए कह रहे हैं, क्योंकि उनके सबक सीखने का वक्त आ गया है… अब उन्हें इसे रोकना ही होगा… महिलाएं सेक्स ऑब्जेक्ट नहीं हैं… मुझे लगता है, महिला मतदाताओं को भी महिलाओं के साथ ऐसा बर्ताव करने वाले ऐसे लोगों के खिलाफ मतदान करना चाहिए…”

आजम खान की सफाई:
उधर अपने बयान पर सफाई देते हुए आजम खान ने कहा कि मैंने किसी का नाम नहीं लिया है. मैं जानता हूं कि मुझे क्या कहना चाहिए. अगर कोई साबित कर देता है कि मैंने कहीं, किसी का नाम लिया है, किसी का अपमान किया है, तो मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा. आजम खान ने एएनआई से कहा कि ‘मैं दिल्ली के एक व्यक्ति का जिक्र कर रहा था जो अस्वस्थ है. जिसने कहा था- मैं 150 राइफलें लेकर आया था और अगर मैंने उस दिन आजम खान को देखा होता तो गोली मार देता.’ उसके बारे में बात करते हुए, मैंने कहा, ‘लोगों को जानने में काफी समय लगा और बाद में पता चला कि उसने आरएसएस के शॉर्ट्स पहने थे.’