नवरात्रि के व्रत में ऐसे बनाएं स्वादिष्ट और फलाहारी चीला-

नवरात्रि के व्रत में मां की अराधना के साथ−साथ सभी भक्तगण अपने आहार का भी विशेष ध्यान रखते हैं। खासतौर से, कुछ लोग पूरे नौ दिन व्रत करते हैं, ऐसे में उन्हें भोजन संबंधी नियमों का पालन करना पड़ता है। इन नौ दिनों एक ही चीज खाना संभव नहीं होता और कभी−कभी गर्मी के मौसम में कुट्टू का आटा काफी हैवी हो जाता है। ऐसे में अगर आप झटपट बनने वाली एक आसान रेसिपी ढूंढ रहे हैं तो यह लेख अवश्य पढ़ें। आज हम आपको नवरात्रि में खाया जाने वाले चीले की रेसिपी बता रहे हैं। यह बनाने में जितना आसान है, खाने में उतना ही मजेदार। तो चलिए शुरू करते हैं इसे बनाना−

सामग्री-
आधा कप साबूदाना
एक कप व्रत में खाए जाने वाले सामक के चावल का आटा
एक उबला आलू
एक तिहाई चम्मच पिसी काली मिर्च
सेंधा नमक
एक बारीक कटी हरी मिर्च
एक तिहाई कप दही
देसी घी
विधि− इस चीले को बनाने के लिए सबसे पहले आधा कप साबूदाना जार में डालकर मिक्सी की सहायता से पीस लें। अब इसे एक मिक्सिंग बाउल में निकालें और इसमें सामक के चावल का आटा मिक्स करें। आप इस मिश्रण को एक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर करके पूरे नौ दिन रख सकते हैं। इससे आपको बार−बार मिक्सी का प्रयोग नहीं करना पड़ेगा और जब भी आपका मन करेगा, आप दो मिनट में चीला तैयार कर पाएंगे।

अब इस आटे को लेकर उसमें एक उबला आलू कद्दूकस करके डालें। इसके बाद इसमें काली मिर्च पाउडर, सेंधा नमक, हरी मिर्च व दही डालकर अच्छी तरह मिक्स करें। अब इसमें थोड़ा−थोड़ा पानी मिलाते हुए एक स्मूद पेस्ट तैयार करें। nइसके बाद चीला बनाने के लिए एक गर्म तवे पर थोड़ा सा देसी घी लगाएं। इसके बाद इस पर तैयार किया बैटर डालकर फैलाएं और मीडियम हाई गैस पर पकने दें। साथ ही चीले के चारों तरफ थोड़ा देसी घी लगाएं। जब यह एक तरफ से सिक जाए तो इसे पलटकर दूसरी तरफ से भी सेकें। जब दो−तीन मिनट सेकने पर यह गोल्डन नजर आने लगे तो समझ लीजिए कि चीला पक चुका है।
अब इसे प्लेट में निकालें और गर्मागर्म व्रत में खाई जाने वाली चटनी के साथ सर्व करें।