नरेश-नितिन अग्रवाल के खिलाफ सपाइयों ने निकाली भड़ास, कालिख पोती

हरदोई | समाजवादी पार्टी महासचिव/राज्यसभा सदस्य नरेश अग्रवाल के भारतीय जनता पार्टी से नाता जोड़ने से नाराज़ सपाइयों ने सपा दफ़्तर में लगी होर्डिंग में उनके और सदर विधायक नितिन अग्रवाल के चित्रों पर कालिख मल दी। अग्रवाल के भाजपा ज्वॉइन करने की खबर आम होने के बाद सपा प्रदेश सचिव संजय कश्यप, मुलायम यूथ ब्रिगेड प्रदेश सचिव मुकुल सिंह आशा और ब्रिगेड के पूर्व जिलाध्यक्ष अमित सिंह ‘मीतू’ ने कालिख पोतने का काम किया।नरेश अग्रवाल के पार्टी छोड़ने पर सपा जिलाध्यक्ष शराफत अली ने कहा कि पार्टी पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सदारत में आगे बढ़ रही है और वह ही समाजवादियों के सर्वमान्य नेता हैं। नरेश अग्रवाल अवसरवादी हैं और उनके पार्टी छोड़ने का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। पार्टी की अपनी नीति और नियति के चलते जनता लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है। आने वाले लोकसभा चुनाव में भारी कामयाबी हासिल करेगी और 2022 में सूबे में पार्टी की सरकार बनेगी।

सपा प्रदेश महासचिव संजय कश्यप ने कहा कि नरेश अग्रवाल सपा के युवा कार्यकर्ताओं की भावनाओं को कुचलते रहे थे। जब जब नरेश अग्रवाल के राजनीतिक अस्तित्व पर संकट आया, सपा ने उन्हें संजीवनी दी। उन्हें संगठन से सरकार में सम्मान दिया। लेकिन, उन्होंने अपना चरित्र दिखा दिया। नरेश अग्रवाल द्वारा भाजपा में जाने पर जिले की कार्यकारिणी से कोई भी मशविरा नहीं किया गया किसी से उनके दोहरे चरित्र और दलबदलू की नियत खुलकर सामने आती है। उनके पार्टी छोड़ने से युवा कार्यकर्ता उत्साहित हैं और अब उन्हें काम करने का अवसर मिलेगा। कार्यकर्ता राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की नीतियों को जनता के बीच दूने जोश से ले जाएंगे।