मेरठ के मुलायम सिंह यादव मेडिकल कॉलेज का नाम बदला, ये है बड़ा कारण-

मेरठ | सपा सरकार में तैयार हुए मुलायम सिंह यादव मेडिकल कॉलेज का नाम अब भाजपा सरकार में बदल गया है। अब मेडिकल कॉलेज का नाम नेशनल कैपिटल रीजन इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस हो गया है। भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद के अधिक्रमण में शासी बोर्ड (एमसीआई) नए नाम से प्रमाण जारी किया है। नाम बदलने को राजनीतिक कारण से जोड़कर देखा जा रहा है।

कॉलेज की संचालक डॉ. सरोजनी अग्रवाल ने जब कॉलेज की नींव रखी तो सपा कार्यकाल में वह एमएलसी थीं। प्रदेश में भाजपा सरकार आने के बाद डॉ. सरोजनी अग्रवाल भाजपा में शामिल हो गईं। अब वह भाजपा सरकार में एमएलसी हैं। सूत्रों की मानें तो नाम बदलने को लेकर कहीं न कहीं मुलायम सिंह यादव का नाम सीटें, मान्यता में अड़चन पैदा कर रहा था। अब नाम बदलने से कॉलेज का विकास तेजी होना माना जा रहा है।

कॉलेज के सभी दस्तावेज में अब नया नाम शामिल हो गया है। कॉलेज में मरीजों की ओपीडी, एमबीबीएस की पढ़ाई चल रही है। वहीं अस्पताल को कोविड अस्पताल बनाया गया है। इसमें कोरोना पॉजिटिव मरीजों को भर्ती कर इलाज किया जा रहा है।