दावतों के मौसम में हो सकते हैं बीमार, इन 5 बातों का रखे खास ध्यान

नवंबर आते ही शादियों के निमंत्रण पत्रों का तांता लग जाता है। दोस्तों और परिवार वालों के साथ देर तक मस्ती के माहौल में खूब खाया-पिया भी जाता है। और फिर शादी का खाना आपके स्वास्थ्य पर भी प्रभाव डालता है। शादी के मौसम में आप कैसे अपना ख्याल रख सकते हैं, इसके लिए हमने बात की न्यूट्रिशनिस्ट कविता देवगन और तृप्ति टंडन से, जिन्होंने स्वस्थ रहने के लिए कुछ हेल्थी सुझाव दिए हैं।

पार्टी से पहले भूखे न रहें-
बिना कुछ खाए कभी भी किसी बैचलर पार्टी में न जाएं। कविता देवगन कहती हैं, ‘अकसर लोग यह सोचकर नाश्ता नहीं करते कि वे बाहर जाकर खाना खाएंगे।’ लेकिन यह गलत है। ऐसे में उन्हें बहुत भूख लगती है और वे लोग पार्टी में जमकर खा लेते हैं। बाहर निकलने से पहले हमेशा कुछ हल्का खाना खाएं या फिर सूप या फल ले लें।

हल्का खाएं-
अगर आप डिनर के लिए बाहर जा रहे हैं, तो लंच में कुछ हल्का खाएं। न्यूट्रिशनिस्ट कहती हैं, ‘यह लिए गए काब्र्स की मात्रा को संतुलित करने में मदद करता है। शादी के दिन, दोपहर के भोजन के लिए हल्के और स्वस्थ विकल्पों को चुनें। स्प्राउट्स या एक कटोरी दाल भी ले सकते हैं। जो भी लें, वह पौष्टिक व हल्का हो। इससे आप अतिरिक्त कैलोरी लेने से बच सकेंगे और आपका वजन संतुलित रह सकेगा।’

मादक द्रव्यों से बचें-
धूम्रपान या एल्कोहल जैसे मादक द्रव्यों से बचें, क्योंकि इनमें कैलोरी ज्यादा होती है। इसके अलावा मॉकटेल ड्रिंक्स से भी दूरी बनाएं। इनमें बहुत कैलोरी होती हैं लेकिन इनके अच्छे स्वाद के कारण लोग इन्हें हल्का समझ कर पी लेते हैं। मॉकटेल्स पीने का मन हो भी तो हल्के विकल्पों की ओर जाएं। जैसे- जिन और टॉनिक। अपने आप को हाइड्रेटेड रखें और हर ड्रिंक के बाद एक ग्लास पानी पिएं।

तले खाने से करें तौबा-
फ्राइड फूड, खासकर शादियों के दौरान सबसे लुभावना विकल्प है। आमतौर पर शादी में फ्राइड स्टार्टर्स ही परोसे जाते हैं लेकिन जितना भी संभव हो, इनसे बचें या फिर इनमें पोर्शन साइज का ध्यान रखें। अगर स्टार्टर्स में बेक्ड खाद्य पदार्थ हों तो उन्हें लें। सॉते की गई सब्जियों, नॉनवेज या फिश ले सकते हैं। तले हुए फिंगर स्नैक्स से बचें। इसके अलावा, डिप्स (एक प्रकार की गाढ़ी चटनी) से बचें। ये कैलोरी से भरपूर होती हैं। आप अलग-अलग तरह का सलाद भी खा सकते हैं।

मीठा खाएं पर ध्यान रखें-
भोजन के बाद मीठा खाना अमूमन सभी को पसंद होता है। चाशनी में डूबे हुए रसगुल्लों और जलेबियों को न कहना मुश्किल तो है लेकिन आप मीठे के लिए फलों वाली दही और सोर्बेट खाने को चुन सकते हैं। अगर फिर भी मीठा खाना ही है तो क्वांटिटी का ध्यान रखें और अपनी कैलोरीज भी गिन लें।