कड़कड़डूमा कोर्ट में वकीलों ने पुलिसकर्मी को पीटा, जानें पूरा मामला-

राजधानी दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट की वकीलों और पुलिसकर्मियों के बीच हिंसा की आंच अब कड़कड़डूमा कोर्ट भी पहुंच गई है। प्राप्त जानकारी अनुसार कड़कड़डूमा कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच सोमवार को झड़प हुई है। वकीलों ने एक पुलिसकर्मी की पिटाई कर दी है। मौके पर पुलिस के आला अधिकारी पहुंच रहे हैं।

बता दें कि बीते दिनों दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच हिंसक झड़प हो गई थी। झड़प में एक वकील को गोली लगी थी और 20 से अधिक पुलिसकर्मी और 8 वकील घायल हुए थे। जिसके बाद दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले पर स्वत: संज्ञान लिया था। चीफ जस्टिस डीएन पटेल और जस्टिस सीएच शंकर ने सुनवाई के दौरान घटना की न्यायिक जांच के आदेश दिए। हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज जस्टिस एसपी गर्ग 6 हफ्ते में रिपोर्ट सौंपने कोर्ट को सौंपेंगे। अदालत ने दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर संजय सिंह और एडिशनल डीसीपी हरेंद्र सिंह को जांच जारी रहने तक ट्रांसफर करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा है कि पुलिस वकीलों के खिलाफ कोई बलपूर्वक कार्रवाई न करे।

गौरतलब है कि दोनों दिल्ली पुलिस और वकीलों के बीच हिंसक झड़प मामले में दोनों पक्ष एख-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। वकीलों का आरोप है कि पार्किंग एरिया में पुलिस और एक वकील के बीच विवाद हुआ। विरोध करने पर पुलिसकर्मी उसे हवालात ले गए और मारपीट की गई। पुलिस ने जांच करने पहुंची 6 जजों की टीम को भी अंदर नहीं जाने दिया था। वहीं, पुलिस ने कहा- हवालात में कुछ कैदियों के साथ पुलिसकर्मी मौजूद थे। वकील बदला लेने के लिए हवालात में घुसकर हमला करना चाहते थे। जब उन्हें रोका गया तो पुलिस के दो वाहनों में आग लगा दी गई थी और कई अन्य वाहनों को भी नुकसान पहुंचाया।