खत्म हुआ कर्नाटक का नाटक, भाजपा सरकार बनाने को तैयार

कर्नाटक | करीब एक महीने से चला आ रहे कर्नाटक के नाटक का मंगलवार देर शाम आखिर पटाक्षेप हो गया। कांग्रेस और जदएस विधायकों के इस्तीफे से लड़खड़ाई 14 महीने पुरानी एचडी कुमारस्वामी सरकार बहुमत परीक्षण में फेल होने के बाद सत्ता से बाहर हो गई।

मतविभाजन में कुमारस्वामी के पक्ष में 99 और विरोध में 105 वोट पड़े। इसके बाद कुमारस्वामी ने रात में ही राज्यपाल वजूभाई वाला को इस्तीफा सौंप दिया। दूसरी ओर, नेता प्रतिपक्ष और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने इसे सच की जीत बताते हुए सरकार बनाने का भरोसा जताया है। इस बीच, देर रात भाजपा विधायक दल की बैठक येदियुरप्पा के अध्यक्षता में एक होटल में हुई। बुधवार को फिर बैठक है। येदियुरप्पा ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखकर समर्थन के लिए उन्हें धन्यवाद दिया है।

गौरतलब है कि कांग्रेस-जदएस के 14 बागी विधायकों के इस्तीफे के बाद सरकार मुश्किलों में घिर गई थी। हालांकि इनमें से एक कांग्रेस विधायक ने सरकार के समर्थन में वोट दिया है। दो निर्दलीय विधायक एच नागेश और आर रमेश ने भी सरकार से समर्थन वापस लेते हुए मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। दोनों विधायक पाला बदलकर भाजपा के खेमे में चले गए थे।

सीएम येदियुरप्पा होंगे-
इस बीच, केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता सदानंद गौड़ा ने साफ किया है कि मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ही होंगे। उन्होंने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व पहले ही इस बारे में अपना मत स्पष्ट कर चुका है। वहीं, भाजपा नेता जगदीश शेट्टार ने कहा कि हमारे साथ 105 विधायक हैं। सदन में हमारा बहुमत है। सरकार बनाएंगे। बागी विधायकों के इस्तीफे स्पीकर ने अभी स्वीकार नहीं किए हैं। अग देखना है वे भाजपा के साथ आना चाहते हैं या नहीं।