कर लीजिए यह काम वर्ना मोबाइल वॉलेट से 1 मार्च से नहीं कर पाएंगे पेमेंट

मोबाइल वॉलेट का प्रयोग करने वाले जल्द से जल्द 1 मार्च से पहले अपने अकाउंट को आधार से लिंक करा लें। अगर ऐसा नहीं किया तो फिर खाते से किसी भी तरह का लेन-देन नहीं कर पाएंगे।आरबीआई के सख्त दिशानिर्देशों के चलते ऐसा होने जा रहा है। आरबीआई का सभी मोबाइल वॉलेट कंपनियों को निर्देश है कि वो केवाईसी की प्रक्रिया को पूरा कर लें। हालांकि कुछ मोबाइल वॉलेट कंपनियां ग्राहकों के बीच में यह अफवाह फैला रही हैं कि उनकी सर्विस 1 मार्च के बाद भी बिना केवाईसी ग्राहकों के लिए सुचारू रूप से चलती रहेंगी। इसके लिए यह कंपनियां मीडिया हाउस को भी गलत प्रेस रिलीज भेजकर गुमराह कर रही हैं। हालांकि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के दिशानिर्देशों के अनुसार केवाईसी करवाना अब भी अनिवार्य है। पहले कहा जा रहा था कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो 28 के बाद पेटीएम वॉलेट की सेवाएं बंद हो जाएंगी। क्योंकि मोबाइल वॉलेट कंपनियों ने रिजर्व बैंक द्वारा जारी किए गए एक अहम आदेश को पूरा नहीं किया है।

केवाईसी नॉर्म्स को करना था पूरा-
आरबीआई ने देश में लाइसेंस प्राप्त सभी मोबाइल वॉलेट कंपनियों को अपने ग्राहकों का केवाईसी नॉर्म्स पूरा करने के लिए फरवरी 2018 तक का वक्त दिया था। ज्यादातर कंपनियां आरबीआई के इस आदेश को पूरा नहीं कर पाई हैं। अगर फरवरी तक यह पूरा नहीं हुआ तो देश भर में कई कंपनियों के मोबाइल वॉलेट बंद हो जाएंगे।

ऐप पर ऐसे करें बेसिक केवाईसी-
पेटीएम के ऐप पर जाकर के केवाईसी के आइकॉन पर क्लिक करें। इसके बाद अपना आधार नंबर और नाम एंटर करें। यह करने के बाद कंपनी की तरफ से प्रतिनिधि को भेजने के लिए आपका नाम. घर या ऑफिस का पता और पिनकोड मांगा जाएगा। इसके बाद अगले 2 से 4 दिन में कंपनी का प्रतिनिधि आपके बताए पते पर आकर के डॉक्यूमेंट्स को वेरिफाई करेगा। बता दें कि पेटीएम एक मात्र ऐसा मोबाइल वॉलेट है, जिसमें कंपनी का प्रतिनिधि आपके घर या ऑफिस आकर के केवाईसी की औपचारिकता को पूरा करता है। आप कंपनी की तरफ से बने केवाईसी सेंटर जाकर भी इस औपचारिकता को पूरा कर सकते हैं। लेकिन इससे पहले आपको पेटीएम के ऐप पर जाकर के बेसिक केवाईसी को आधार के जरिए पूरा करना होगा।