पाकिस्तान के लोग भारत के साथ अमन चाहते हैं : इमरान खान

इस्लामाबाद | पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि पाकिस्तान के लोग भारत के साथ अमन चाहते हैं। यहां के लोगों की मानसिकता बदल चुकी है। उन्होंने कश्मीर मुद्दे के समाधान की संभावना पर कहा कि कुछ भी असंभव नहीं है। इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान की जमीन का बाहर आतंकवाद फैलाने के लिए इस्तेमाल होने की इजाजत देना हमारे हित में नहीं है। इमरान खान ने मुंबई हमले के गुनहगारों को सजा देने पर कहा कि हाफिज सईद पर संयुक्त राष्ट्र ने प्रतिबंध लगा रखा है। जमात-उद-दावा प्रमुख पर पहले से ही शिकंजा कसा हुआ है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा ने कहा कि शांति के प्रयास एक तरफा नहीं हो सकते। इमरान खान ने कहा, हम नयी दिल्ली के संकेत के लिए भारत में होने वाले चुनावों (आम चुनावों) की प्रतीक्षा करने के लिए तैयार हैं। पाक PM ने कहा कि चलिये बात करते हैं। मैं किसी भी मुद्दे पर बातचीत करने के लिए तैयार हूं। कश्मीर का हल एक सैन्य समाधान नहीं हो सकता।

इससे पहले इमरान खान ने ऐतिहासिक करतारपुर गलियारे का शिलान्यास करते हुए कहा था कि उनका देश भारत के साथ “मजबूत” और “शिष्ट” संबंध चाहता है तथा प्रतिबद्धता के साथ दोनों देश कश्मीर सहित सभी मुद्दों को हल कर सकते हैं। इमरान ने कहा था, ‘‘मैं आपको आश्वासन देता हूं कि हम इस समस्या का हल कर सकते हैं। लेकिन दृढ़ संकल्प और बड़े सपनों की जरुरत है। कल्पना कीजिए कि एक बार व्यापार शुरू हो जाता है, हमारा रिश्ते सुधर जाते हैं तो दोनों देशों को कितना फायदा हो सकता है।”