हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर ने संगम में लगाई आस्था की डुबकी, UP सरकार का जताया आभार

शशांक मिश्रा/ प्रयागराज । कुंभनगरी में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पहुंचे । उन्होंने संगम में पौष पूर्णिमा के अवसर पर स्नान के बाद कहा कि आध्यात्मिक संस्कृति के देश भारत की दुनिया में प्रेरणादायक पहचान रही है। विश्व को सामाजिक और नैतिक मूल्यों का पाठ पढाने वाला भारत देश आध्यात्मिक और पौराणिक पहचान के चलते विश्व में अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता है। सभ्य संस्कृति के इस देश में हर व्यक्ति की चाहिए कि वे अपनी पहचान को बनाए रखने के लिए समाज और राष्ट्र सेवा के कार्यों में बढचढ कर भाग लें। मुख्यमंत्री मनोहर लाल सांय संगम स्थल पर आध्यात्मिक स्नान करने उपरांत अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार का मुख्य उद्देश्य भी जनसेवा है। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जनहित की कल्याणकारी और विकासपरक स्कीमों को शुरू किया है और हम उनकी सामाजिक सोच को भी आगे बढाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम सबका मुख्य उद्देश्य जनसेवा होना चाहिए। प्रवचन और कथाएं भी स्नान की तरह होती हैं। इनके सुनने से भी जीवन में नई चेतना का संचार होता है। उन्होंने कहा कि आध्यात्मिक सोच में समाहित सकारात्मक सोच लक्ष्य को पाने में मदद करती है। इसलिए जीवन में नई दिशा व दशा तय करने के लिए सामाजिक जीवन में सकारात्मक सोच होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने सोमवार को सांय संगम स्थल पर स्नान करने उपरांत मां गंगा, यमुना और सरस्वती को नमन किया और सभी के लिए सुख व समृद्धि की कामना की। उन्होंने इस मौके पर उत्तर प्रदेश सरकार का भी आभार व्यक्त किया।