..तो कोरोना है चीन द्वारा बनाया गया जैविक बम !

इक्कीसवीं सदी में आकर पिछले महीने से दुनिया रुक सी गयी है | खुद को ताकतवर मुल्क समझने वाले अमेरिका, फ्रांस, इंग्लॅण्ड, चीन सहित दुनिया के सभी देश सहमे हुए हैं | कोरोना वायरस के रूप में दुनिया में फैली माहमारी ने इंसानियत को झझकोर कर रख दिया है | बड़ेबड़े वैज्ञानिक भी अभी तक कोरोना का इलाज नहीं ढूंढ़ सके हैं | विश्व में आपातकाल सा लगा है | हजारों लोगों की जिंदगी कोरोना वायरस ( कोविड-19 ) ने लील ली है |

टेक्नोलॉजी के बड़े बड़े दावे करने वाले मुल्क भी कोरोना वायरस के सामने हथियार डाल चुके हैं | विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सभी देशों को दिशा निर्देश जारी किये हैं और लोगों को घरों में रहने और सामाजिक दूरी बनाने के निर्देश दिए हैं | दुनियाभर में अबतक 15 हजार से अधिक मौते हो चुकीं है | चीन के वुहान शहर से निकला यह वायरस चीन में करीब चार हजार लोगो को मारने के बाद इटली में कहर बरपा रहा है | इटली में करीब छः हजार लोग मर गए हैं | अमेरिका में करीब पांच सौ, स्पेन में करीब २ हजार,ईरान में करीब दो हजार,फ़्रांस में करीब एक हजार लोग कोरोना से मरे हैं | दुनिया में करीब 335167 लोग संक्रमित हैं | कोरोना के मामले भारत, पाकिस्तान सहित विकासशील देशों में तेजी से बड़ रहे हैं | विकसित देश अभी तक इलाज नाहगी ढूढ़ सके हैं, विकास शील देशों के हालात का आप स्वंय अंदाजालगा सकते हैं ?

अब सवाल यह है कि आखिर कोरोना ( कोविड-19 ) वायरस आया कहाँ से | अभी तक जो तस्वीर सामने आई है उससे साफ़ है कि चीन के शहर वुहान से कोरोना निकला है | वुहान में चीन की सबसे बड़ी प्रयोगशाला है | कोरोना पर चीन की चुप्पी और सामने आये तमाम वीडियो से यह तो स्पष्ट है कि चीन दुनिया से कुछ छुपा रहा है | पूरे विश्व जगत को खतरे में डालने के बावजूद चीन के शासक मौन हैं और कोरोना पर स्थिति स्पष्ट नहीं कर रहे हैं | दुनिया जानती है चीन में मीडिया पर सरकार का नियंत्रण है तो उसकी रिपोर्ट्स को कैसे सच मान लिया जाये ? खबर यह भी आई थी कि वुहान किसी लैब में कुछ रिसाव हुआ और फिर वहीँ से यह कोरोना फैला | कुछ खबरे सोशल मीडिया पर यह थी कि सूप या चाइनीज के खान पान से यह निकला लेकिन इसे इसलिए नहीं माना जा सकता कि चीन के लोग लम्बे अरसे से ऐसा करते आ रहे हैं |

प्रथम दृष्टया तो यही कहा जा सकता है कि चीन ने वुहान में नए नए प्रयोगों और केमिकल या जैविक हथियार पाने के लिए सम्पूर्ण मानवता को खतरे में डाला है | कोरोना वायरस के लक्षण और चीन की चुप्पी जैविक बम की पुष्टि करने के लिए पर्याप्त है | संयुक्त राष्ट्र को भी चीन से जवाब तालाब करना चाहिए और दुनिया के सामने सच्चाई लानी चाहिए | भारत सहित सम्पूर्ण विश्व के लोगों को एलर्ट रहने और सरकारों द्वारा जारी किये गए निर्देशों को पालन करने की जरुरत है | हम सावधानी बरतेंगे तभी सुरक्षित रह पाएंगे | बाकी ईश्वर पर छोड़ दीजिये…

-लेखक जियाउर्रहमान, व्यवस्था दर्पण के सम्पादक हैं |