चीन ने अपने नागरिकों को दिया भारत छोड़ने की नोटिस, ये है वजह-

नई दिल्ली । नई दिल्ली स्थित चीनी दूतावास ने भारत में रह रहे अपने नागरिकों को एक आवश्यक नोटिस के जरिए सूचित किया है कि उनके घर वापस जाने के लिए विशेष उड़ानें उपलब्ध होंगी। नोटिस में कहा गया है कि चीन के विदेश मंत्रालय ने विशेष रूप से उन छात्रों और पर्यटकों के लिए विस्तृत योजना बनाई है, जिन्हें चीन जाने के लिए मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।दूतावास की वेबसाइट पर 25 मई को मंदारिन भाषा में दिए गए नोटिस में कई स्वास्थ्य संबंधी सावधानियां बरतने के सुझाव दिए गए हैं। दूतावास 27 मई तक यात्रियों का पंजीकरण करेगा।

चीनी दूतावास की ओर से जारी नोटिस में कहा गया है कि जो लोग वापस जाने के इच्छुक हों, वो अपना किराया और 14 दिन क्वारंटाइन का खर्च देने के लिए तैयार रहें। इसके साथ ही ऐसे लोगों को विमान में सवार होने की इजाजत नहीं दी जाएगी, जो कोरोना संक्रमित हैं या जिनमें इसके लक्षण हैं। यही नहीं कोरोना मरीज के संपर्क में आने वाले वो लोग, जिनका तापमान 37.3 डिग्री सेंटिग्रेड से अधिक होगा, उनको भी यात्रा की इजाजत नहीं दी जाएगी।

वहीं, दूसरी ओर भारत और चीन के बीच लद्दाख में तनाव बढ़ गया है। दोनों ही देशों ने लद्दाख में LAC पर अपने सैनिकों की संख्या में बढ़ोतरी की है। इस बीच चीन से सोमवार को एक बड़ी खबर सामने आई है। चीन ने भारत से अपने नागरिकों को निकालने का फैसला लिया है। हालांकि चीन ने साफ इनकार किया है कि इसका सीमा पर तनाव से कोई लेना देना नहीं है।