पूरा रुपया अब भी आम आदमी तक नहीं पहुँचता, मोदी के दावे खोखले !

दिल्ली| प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात में एक आम सभा में दावा किया कि अब दिल्ली से सरकारी योजनाओं के जरिए भेजा गया एक रूपया पूरा का पूरा आम लोगों तक पहुंचता है। मोदी ने यह दावा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की उस स्वीकारोक्ति के संदर्भ में दिया, जिसमें गांधी ने कहा था कि दिल्ली से एक रूपया निकलता है तो 15 पैसे ही लोगों तक पहुंचते हैं। प्रधानमंत्री के इस बयान के बाद क्या यह माना जाए कि…

Read More

पत्रकारों के चहीते आखिरी चिराग ह्दय नारायण दीक्षित !

नवेद शिकोह – तमाम दिग्गज राजनेता लखनऊ के पुराने पत्रकारों के अज़ीज़ रहे हैं। उत्तर प्रदेश भाजपा का केंद रहा है और इस प्रदेश के भाजपा नेता पार्टी की ताक़त बने हैं। पुराने जमाने में वाकई भाजपा की पहचान चाल-चरित्र, चेहरे से थी। कई ज़मीनी नेता अपनी सादगी की वजह से भी जाने जाते थे। इनका ज़मीन से सीधा रिश्ता था। ये नेता संस्कारी, व्यवहार कुशल और पत्रकारों से खूब घुलते-मिलते थे। पत्रकारों को ख़ूब इज्जत देते थे। यूपी…

Read More

जीवन में नि:स्वार्थ भावना आये बिना खरा अनुशासन निर्माण नहीं होता : डॉ हेडगेवार

दिल्ली में मुसलमानो की घनी आबादी जामिया नगर, ओखला और अबुल फ़ज़ल से ६०० मीटर की दूरी पर “डा. केशवराव बलिराम हेडगेवार स्मारक न्यास’ का एक भव्य इमारत आपको देखने को मिलेगा, यू समझ लीजिए कि NCPUL के उर्दू भवन से लगा भवन ही “डा. हेडगेवार स्मारक न्यास’ एक जीवन्त और ज्ञान से भरपूर संस्था है जो भारत को सच्चे दिल, सोच और आत्मीयता से जोड़ता है। हाँ, शोध और देखने का समय कुछ भी नहीं जब चाहे आप…

Read More

Posted in ब्लॉग, विचार Tagged Comments Off on जीवन में नि:स्वार्थ भावना आये बिना खरा अनुशासन निर्माण नहीं होता : डॉ हेडगेवार
बहुत याद आओगे, गब्बर ! पढ़िए अमजद खान की पुण्यतिथि पर ध्रुव गुप्त का यह आर्टिकल-

सिनेमा का कोई अभिनेता किसी एक फिल्म से भी अमरत्व हासिल कर सकता है, इस बात का सबसे बड़ा उदाहरण मरहूम अमजद खान हैं। वैसे तो अमजद ने कोई दो दर्जन से ज्यादा फिल्मों में खलनायक, सहनायक और चरित्र अभिनेता की विविध भूमिकाएं कीं, लेकिन उन स्टीरियोटाइप भूमिकाओं में कुछ भी अलग नहीं था। याद उन्हें सिर्फ ‘शोले’ में गब्बर सिंह की भूमिका के लिए ही किया जाता है। हिंदी सिनेमा के दर्शकों ने किसी डाकू का इतना खूंखार…

Read More

Posted in ब्लॉग, विचार Tagged Comments Off on बहुत याद आओगे, गब्बर ! पढ़िए अमजद खान की पुण्यतिथि पर ध्रुव गुप्त का यह आर्टिकल-
युवा अपने आस-पास पर्यावरण में रूचि लें और पर्यटन से लाखों कमायें

नई दिल्ली | अपने शहर से निकलते ही हरियाली शुरू हो जाती है और अनायास ही हम हरे-भरे खेतों,पेड़ो,तालाबों में मानो खो से जाते हैं तथा मंजिल की दूरी लगातार घटती जाती है कि हमें पता ही नहीं चलता की हम कितने घंटे का सफ़र करके आ रहे हैं|अपनी मंजिल के रास्ते में हमें अनेकों स्थान अपनी ओर आकर्षित करते हैं,लेकिन समयाभाव के कारण हम हर स्थान पर रुक नहीं पाते और फिर कभी रुकेंगे कहकर आगे बढ़ जाते…

Read More

#GopalDasNeeraj : आंसू जब सम्मानित होंगे, मुझको याद किया जाएगा !

आज हिंदी के महाकवि गोपाल दास नीरज का देहावसान हिंदी गीतों के एक युग का अंत है। 93 साल की उम्र एक जीवन के लिए कम नहीं होती, लेकिन गंभीर बीमारी की हालत में उनका ऐसे चुपचाप चले जाना हमारे अंतर्मन पर व्यथा के कुछ गहरे धब्बे ज़रूर छोड़ गया है। प्रेम और विरह के यशस्वी गीतकार नीरज के गीतों के श्रृंगार ने कभी हमारे युवा सपनों को आसमान और परवाज़ बख़्शा था। उनके गीतों में खामोशी से चीखती…

Read More

इन जाहिल मुल्लों के ख़िलाफ़ भी कोई फतवा ज़ारी होगा या ऐसे तमाम फतवे सिर्फ़ मुस्लिम औरतों के लिए ही सुरक्षित रखे गए हैं ?

यह जानते हुए कि देश के ज्यादातर न्यूज़ चैनल सरकार और संघ के हिन्दुत्ववादी एजेंडे पर काम कर रहे हैं, ये मुल्ले और मौलवी इन चैनलों द्वारा आयोजित किसी बहस में डांट सुनने और अपनी बेइज्जती कराने क्यों चले जाते हैं ? महज़ कुछ हज़ार रुपयों की लालच या लोगों को अपना चेहरा दिखाने की बेसब्री ? वैसे भी इन न्यूज़ चैनलों पर नज़र आने वाले एक-दो लोगों को छोड़कर ज्यादातर मुल्ले मुझे मूर्ख ही नज़र आते हैं जिन्हें…

Read More

क्या #बलात्कारियों को जीने का हक़ है ? पढ़िए पूर्व IPS ध्रुव गुप्त का देश और समाज को आईना दिखाता यह आर्टिकल-

उत्तर प्रदेश के बलिया में छुट्टियों से लौट रही एक सत्रह साल की छात्रा की बलात्कार के बाद हत्या की त्रासद खबर अभी ठंढी भी नहीं पड़ी थी कि मध्यप्रदेश के मंदसौर में आठ साल की एक नन्ही बच्ची के साथ बलात्कार और उसके साथ अमानुषिक सलूक की खबर देखकर हर संवेदनशील व्यक्ति भीतर तक हिल गया होगा। देश के कोने-कोने से जिस तरह नन्ही बच्चियों और किशोरियों के साथ बलात्कार, सामूहिक बलात्कार और उनकी नृशंस हत्याओं की खबरें…

Read More

#सपा के चंद नेताओं ने सेट कर रखे हैं #अखिलेश यादव के सिक्योरटी गार्ड, कैसे #पल्लवित होगा #समाजवाद, #सपा नेत्री ने बयाँ की यह पीढ़ा-

लखनऊ | सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव भले ही 2019 की तैयारी में जुटे हुए हों लेकिन सपा नेताओं का दर्द वह नहीं समझ पा रहे हैं | कार्यकर्ताओं के मन में चंद नेताओं से ही घिरे रहने का दर्द है जो अब निकल कर आ रहा है | सपा नेत्री और यूपी महिला आयोग की पूर्व सदस्य डॉ रोली तिवारी मिश्रा ने अपने फेसबुक पोस्ट पर अखिलेश के आस पास रहने वाले नेताओं के प्रति दर्द जाहिर किया है…

Read More

बिना #UPSC परीक्षा सीधे 10 ज्वाइंट सेक्रेटरी चुनेंगे मोदी, #संविधान और #आरक्षण को #अँगूठा !

आज के दिन को भारत के सामाजिक लोकतंत्र के इतिहास के कलंकित दिन के तौर पर याद किया जाएगा. आज पहली बार भारत सरकार ने एक विज्ञापन जारी करके कहा है कि सरकारी नीति बनाने के लिए वह अफसरों की बगैर किसी परीक्षा के नियुक्ति करेगी. विज्ञापन में साफ लिखा है कि ये अफसर निजी क्षेत्र या विदेशी कंपनियों से भी हो सकते हैं. इन नियुक्तियों में SC, ST, OBC, PH आरक्षण समेत किसी संवैधानिक नियमों का पालन नहीं…

Read More