भलो भयो विधि ना दिए शेषनाग के कान, धरा मेरू सब डोलते तानसेन की तान ! पढ़िए ध्रुव गुप्त का यह आर्टिकल-

संगीत सम्राट तानसेन भारतीय शास्त्रीय संगीत के शिखर पुरुषों में एक रहे हैं। ग्वालियर के हजरत मुहम्मद गौस और वृंदावन के स्वामी हरिदास के शिष्य तानसेन सम्राट अकबर के दरबारी गायक और उनके नवरत्नों में से एक थे उनकी गायन प्रतिभा के बारे में ‘आईने अकबरी’ में इतिहासकार अबुल फज़ल ने कहा है – ‘पिछले एक हज़ार सालों में उनके जैसा गायक नहीं हुआ।’ उनके गहरे मित्र और भक्त कवि सूरदास ने उनके बारे में लिखा है – भलो…

Read More

राहुल गांधी पर देश के प्रत्येक नागरिक की आंखें खोल देगा पूर्व IPS ध्रुव गुप्त का यह आर्टिकल- आप राजनीति के लिए नहीं बने हैं !

झूठ नहीं बोलूंगा राहुल जी, आपमें इस देश का प्रधानमंत्री या किसी प्रदेश का मुख्यमंत्री तो क्या, किसी पंचायत का मुखिया बनने की भी योग्यता फिलहाल नहीं है। इन कुर्सियों तक पहुंचने के लिए जैसी लफ्फाजी, धूर्तता और झूठ-फरेब की दरकार होती है, वह आपमें सिरे से गायब है। आज की विद्रूप राजनीति में आप जैसे भावुक, संवेदनशील लोगों की जगह बिल्कुल नहीं बनती। विपक्षियों की तो छोड़िए, भ्रष्ट और अवसरवादी लोगों से भरी आपकी अपनी कांग्रेस भी आपके…

Read More

..वह गर्भवती हथिनी हम मनुष्यों के बारे में क्या सोच रही होगी ?

केरल के मल्लपुरम जिले की एक अमानुषिक घटना ने देश के संवेदनशील लोगों को गुस्से से भर दिया है। वहां भोजन की तलाश में एक हथिनी जंगल के बाहर निकल आई। गांव के कुछ लोगों ने पहले तो उसके साथ शरारतें की और फिर अनानास के एक फल के अंदर शक्तिशाली पटाखे रखकर उसे खिला दिया। अनानास भीतर जाते ही उसके मुंह में धमाके होने लगे। असह्य दर्द से छटपटाती हुई वह गांव में इधर-उधर दौड़ती रही। शायद किसी…

Read More

पढ़िए डॉ सुनील दत्त का यह आर्टिकल- ‘उत्तराखण्ड देवभूमि से साहित्य की सशक्त हस्ताक्षर डॉ कविता भट्ट’

देहरादून | उत्तराखण्ड की देवभूमि से निकल पूरे देश में साहित्य रचनाओं और कविताओं के माध्यम से पहचान बनाने वाली कवयित्री डॉ कविता भट्ट की चर्चाएं देवभूमि में लोगों की जुबां पर हैं | ऋषिकेश स्थित भरत मंदिर इंटर कालेज के प्रवक्ता डॉ सुनील दत्त थपलियाल ने डॉ कविता भट्ट की शख्सियत को अपने शब्दों में बया किया है | पढ़िए डॉ सुनील का यह आर्टिकल- कुलं पवित्रं जननी कृतार्थावसुन्धरा पुण्यवती च येन।जिस कुल में वे महापुरुष अवतरित होते…

Read More

पढ़िए MP की उभरती कवयित्री अंकिता जैन ‘अवनी’ की दिल को छू लेने वाली ये चर्चित रचनाएं-

‘विदेश में’पटर-पटर अंग्रेजी बोलते लोगों में,जब कोई हिंदी भाषी मिल जाए,और हैलो, हाय के बीच में,नमस्ते सुनाई दे जाए,तो यूं लगेगा,कि हम पहुँच गये स्वदेश में,या देश आ गया विदेश में।जब विदेशी नदी को देख,माँ गंगा का स्मरण हो जाए,और माँ की स्तुति गाने को,मन श्रद्धा से भर जाये।तो ऐसा लगेगा,जैसे हम पहुँच गये वहाँ,मां के एक आदेश में,या माँ आ गई हो विदेश में।जब विदेशी खामोशी में,कोई देशी त्यौहार का शोरगुलयाद दिला दे,तो ऐसा लगेगा जैसे,अपने ही हों…

Read More

हजारों करोड़ ‘PM केयर्स’ में जमा हुआ है अगर वह देश के नागरिकों के काम नहीं आ सकता तो किसके काम आएगा ?

कोरोना के ख़तरे के मद्देनज़र प्रधानमंत्री के साथ बैठक में अधिकतर राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन बढ़ाने का समर्थन किया है। इस बैठक में पैदल घरों को लौट रहे मजदूरों के लिये क्या बात हुई है? सड़कों पर पैदल चलते, दम तोड़ते मजदूरों के लिये सरकार की संवेदनाएं मर चुकीं हैं? सड़क पर बच्चा जनती महिला मजदूर के लिये सरकार के पास कोई संवेदना बची भी है या नहीं ? उत्तर प्रदेश सरकार ने सड़क पर मरने वाले यूपी…

Read More

ऋषि- इरफान ने मर के मार दिया नफरत का वायरस ! पढ़िए नवेद शिकोह का यह आर्टिकल-

जितनी भी बंदिशें हो पर एक बंद कोठरी के रौशनदान से खुला आसमान दिख जाये तो हम अपने को आजाद महसूस करने लगते हैं। कोरोना का डर और लॉकडाउन की बंदिशों में ना मालुम कहां से घुस आया नफरत का वायरस और भी घुटन पैदा करने लगा। बंदिशों और घुटन से कुछ राहत तब मिली जब आसमान की तरफ देखा। इत्तेफाक से आसमान पर सितारे टूट रहे थे। लेकिन इन सितारों की खासियत देखिये कि इनके दुख में भी…

Read More

UP में सैंकड़ो पत्रकारों की हो रही कोरोना जांच, रिपोर्ट बयां करेगी वास्तविक हालात

देश में कोरोना वायरस का क्या असर है, ये सबसे बड़ी ख़बर पत्रकार अपनी कोरोना जांच करा के बतायेंगे। मुंबई के हष्टपुष्ट तीस प्रतिशत पत्रकारों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी, यदि ख़ुदानाख़ास्ता इतनी अधिक संख्या में अन्य कोरोना फाइटर पत्रकारो़ की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई तो ये खतरे की बड़ी घंटी होगी। ये शंका बढ़ जायेगी कि लोगों के बीच में घूम-घूम कर काम करने वाले कोरोना फाइटर्स पत्रकार ही कोरोना संक्रमित हैं तो अन्य कोरोना फाइटर्स पर भी…

Read More

प्रोपेगेंडा युद्ध की बदौलत कोरोना मुसलमान हो गया है ! मुस्लिमों की आंख खोल देगा वसीम अकरम त्यागी का यह आर्टिकल-

मुसलमानों के खिलाफ छेड़े गए प्रोपेगेंडा युद्ध की बदौलत कोरोना मुसलमान हो गया है। दर्जनों ऐसी ख़बरें आईं हैं जिसमें अस्पताल प्रशासन ने मुसलमानों का इलाज करने से साफ मना कर दिया। मेरठ में वेलिंटिस कैंसर अस्पताल है, इस अस्पताल ने दो दिन पहले दैनिक जागरण अख़बार में आधे पेज का विज्ञापन दिया, जिसमें कोरोना का जिम्मेदार तब्लीग़ी जमात को ठहराया गया। इतना ही इस विज्ञापन में तब्लीग़ी जमात के बहाने प्रत्यक्ष रूप से मुसलमानों का समाजिक बहिष्कार करने,…

Read More

..तो राष्ट्रवाद का ईंधन बनने से बच जाएगा मुसलमान ! जरूर पढ़ें वसीम अकरम त्यागी का यह आर्टिकल-

पूरी दुनिया कोरोना जैसी महामारी की चपेट मे है। लेकिन भारतीय मुसलमान को संकट के दौर में दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। उसे कोरोना जैसी महामारी से भी बचना है और भारतीय मीडिया द्वाया तैयार किए गए आतंकियों/लिंचिंग गैंग से भी खुद को बचाना है। अभी तक जो ख़बरें सामने आईं हैं वे बताती हैं कि भारतीय मीडिया के प्रोपेगेंडा युद्ध ने, गांव, बस्ती, मौहल्लों, शहरों में जंगली जानवर तैयार कर दिए हैं, जो यहां आने वाले सब्जी…

Read More