क्या राम मंदिर या बाबरी मस्जिद बनने से हिंदुस्तान की दरिद्रता दूर हो जायेगी ?

देश के नामी पत्रकार, बुद्धिजीवी होने के नाते श्रीमान वेदप्रताप वैदिकजी के प्रति मेरे मन में काफी सम्मान की भावना होने के बावजूद दिनांक-30 अक्टूबर 2018 को ‘लोकमत समाचार’ में ‘राम मंदिर का अध्यादेश कैसा हो?’ शीर्षक उनका लेख पढ़कर मुझे उनकी बुद्धि पर खासा तरस आया। आपने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के संदर्भ में अपने विचार व्यक्त करते हुए लिखा- ‘मैं कहता हूँ कि वहां दुनिया के लगभग सभी प्रमुख धर्मों के तीर्थ क्यों न बनें?…

Read More

मुलायम आज भी सियासी दुनिया के ‘पहलवान’ लेकिन परिवार के झगड़े ने उन्हें तोड़ दिया है !

उत्तर प्रदेश की राजनीति में कभी धूमकेतु की तरह चमकने वाले समाजवादी नेता मुलायम सिंह यादव को लेकर अंदरखाने में तमाम तरह की बातें चल रही हैं। कभी उनके स्वास्थ्य को लेकर सवाल खड़ा किया जाता है तो कभी उनकी याद्दाश्त पर प्रश्न चिह्न लगाया जाता है। यह स्थिति वर्ष 2017 में विधानसभा चुनाव से कुछ माह पूर्व उस समय से विषम हो गईं थीं जब अखिलेश यादव ने नेता जी को जर्बदस्ती समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष पद से…

Read More

पढ़िए पूर्व IPS ध्रुव गुप्त का आर्टिकल- दीवाली : स्त्रियों की मुक्ति का पर्व !

दीवाली के पांच-दिवसीय आयोजन का आज दूसरा दिन है जिसे हम नरक चतुर्दशी या छोटी दीवाली के रूप में मनाते हैं। आज के इस उत्सव की पृष्ठभूमि में यह पौराणिक कथा है कि प्राग्ज्योतिषपुर के शक्तिशाली असुर सम्राट नरकासुर ने देवराज इन्द्र को पराजित करने के बाद देवताओं तथा ऋषियों की सोलह हजार से ज्यादा कन्याओं का अपहरण कर उन्हें अपने रनिवास में रख लिया था। नरकासुर को किसी भी देवता या पुरूष से अजेय होने का वरदान प्राप्त…

Read More

जब दिल्ली की महिला अधिवक्ता से कैब ड्राइवर बोला, ‘कोई कहीं भी सेफ नही है’, पढ़िए-

देश की राजधानी दिल्ली और आस पास के क्षेत्र में ऊबर और ओला कैब का उपयोग शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति हो जो न करता है । आजकल इन्ही कैब के जरिये अधिकांश लोग एनसीआर में भ्रमण करते हैं । दिल्ली की अधिवक्ता दीप्ति शर्मा भी कैब से अक्सर आती-जाती रहती हैं । दीप्ति शर्मा ने कैब वालों के दर्द को बयान किया । कुछ दिन पहले दिनों दीप्ति शर्मा नोएडा एक कार्यक्रम में कैब से गईं तो ड्राइवर…

Read More

भारतीय मुस्लिम समाज का बौद्धिक केन्द्र बनाया जाए इस्लामिक सेण्टर : जसीम मोहम्मद

इण्डिया इस्लामिक कल्चरल सेन्टर, (आई०आई०सी०सी०), नई दिल्ली का एक महत्वपूर्ण सम्मनित बौद्धिक स्थान है। यह वह जगह है जहाँ आज हिन्दुस्तान के उन लोगों के साथ चर्चा कर सकते ह ।तो मुस्लिम समाज में एक महत्वपूर्ण और सम्मानित स्थान रखते है। यहाँ बुद्धिजीवी, लेखक, कवि, राजनीतिज्ञ कलाकार और दार्शनिक व्यक्ति मिल कर सकारात्मक चर्चायें करते है और इसे भारतीय मुस्लिम समाजों का बौद्धिक बैरोमीटर भी कहा जासकता है। इस सस्थांन की स्थापना के पीछे पूरा एक इतिहास छिपा है…

Read More

बताओ बच्चों की कब्र पर चढ़कर कौन सी दिवाली मनाओगे ? पढ़िए सालिक यह मार्मिक आर्टिकल-

प्यारे बेटे अज़ीम अल्लाह तुम्हे जन्नत में आला से आला मुकाम नसीब अता फरमाए, हो सके तो हमें माफ़ करना, हम तुम्हें महफ़ूज़ नही कर पाए हम नफरत का मुकाबला नही कर पाएं, बेशक हम शर्मिंदा हैं’ क्या आपने कभी किसी मदरसे के बच्चों को देखा है? एक बार किसी मदरसे में जाकर ज़रूर देखिएगा। मदरसे में आपको छोटे छोटे मासूम बच्चे पढ़ते-खेलते दिख जायेंगे, ये वो बच्चे होते है जो अपने गरीब माँ-बाप से दूर मदरसे में अपनी…

Read More

बाप आजम खान पर FIR दर्ज होते ही बेटे अब्दुल्लाह को याद आया Aligarh एनकाउंटर !

लखनऊ । सियासत भी अजब गुल खिलाती है, यहां कौन, कब, कैसे नेताओं को याद आयेगा परिस्थितियों पर निर्भर करता है । अब आप सपा के बड़े नेताओं में शुमार, मुस्लिमो के बड़े नेता कहे जाने वाले आज़म खान के परिवार को ही देख लीजिए ,जैसे ही लखनऊ में आज़म खान के खिलाफ 2016 में डॉ आंबेडकर के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने का मामला दर्ज हुआ उनका परिवार आक्रोशित हो उठा । खुद आजम खान ने तो योगी सरकार…

Read More

जाने किस दिन हिन्दोस्तान आज़ाद वतन कहलाएगा !

शहीद अशफाकुल्लाह खां भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक क्रांतिकारी सेनानी और ‘हसरत’ उपनाम से उर्दू के अज़ीम शायर थे। उत्तर प्रदेश के एक छोटे से शहर शाहजहांपुर में जन्मे अशफाक ने अपनी किशोरावस्था में अपने ही शहर के क्रांतिकारी शायर राम प्रसाद बिस्मिल से प्रभावित होकर अपना जीवन वतन की आज़ादी के लिए समर्पित कर दिया था। वे क्रांतिकारियों के उस जत्थे के सदस्य थे जिसमें राम प्रसाद बिस्मिल, चंद्रशेखर आज़ाद, मन्मथनाथ गुप्त, राजेंद्र लाहिड़ी, शचीन्द्रनाथ बख्सी, ठाकुर रोशन…

Read More

जरुर पढ़ें – दशहरे पर भारतवासियों के नाम रावण का संदेश !

सभी भारतवासियों को दशहरे की शुभकामनाएं ! आज का यह दिन राम के हाथों मेरी पराजय और मृत्यु का दिन है। यह मेरे लिए उत्सव का दिन है क्योंकि एक योद्धा के लिए विजय और पराजय से ज्यादा बड़ी बात उसका पराक्रम है। मुझे गर्व है कि अपने जीवन के अंतिम युद्ध में मैं एक योद्धा की तरह लड़ा और मरा। आप कह सकते हो कि मुझमें अहंकार था और यही अहंकार मेरे पराभव का कारण बना। यही अहंकार…

Read More

क्या मन्नान को AMU से जोड़ने वाले निशांत, अच्युतानंद, संदीप और ध्रुव सक्सेना की पाठशाला पर सवाल दागेंगे ?

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी एक बार फिर संघी मीडिया की आंखों किरकिरी बन गई है। दरअस्ल कुछ महीने पहले अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी का पीएचडी का छात्र मन्नान वाणी आतंकी संगठन से जुड़ गया था। बीते रोज़ मन्नान वाणी को सेना द्वारा की गई एक मुठभेड़ में मार दिया गया है। दिलचस्प है कि महीनों पहले जैसे ही मन्नान वाणी के आतंकी संगठन से जुड़ने की खबर आई थी विश्विद्यालय प्रशासन ने तुरंत ही उसे विश्विद्यालय से सस्पेंड कर दिया था।…

Read More