लहू रहा है अब पुकार, आतंक को दो जड़ से उखाड़ !

अब धैर्य धरा न जाएगा बहुत हुआ अब संयमअब रण ही हो जाएगाअब धैर्य धरा न जाएगा दहक रही हैं ज्वाला तन मेंक्रोधाग्नि दावानल आएगा इन दरिंदों को सीधे अबरण में मारा जाएगा वीर जवानों का लहू काअब बदला लिया जाएगाये नपुंसक पाकिस्तानीअब इनको न बख्शा जाएगा अमर शहीदों को अबरण ही सुकून पहुचायेगाबहुत हुआ हिंसा का खेलअब बदला लिया जाएगा अब धैर्य धरा न जाएगालहू रहा है अब पुकारआतंक को दो जड़ से उखाड़अब धैर्य धरा न जाएगा…

Read More

‘जानेमन, तुम छिप-छिप कर आना’ चर्चित IAS अफसर बी. चंद्रकला ने लिखी कविता, सोशल मीडिया पर हुई वायरल

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर छाई रहने वाली चर्चित आईएएस अफसर बी चंद्रकला एकबार फिर अपनी कविता को लेकर सुर्खियों में हैं ।उन्होंने इस बार अवैध खनन मामले में सीबीआइ की छापेमारी के फिर शायराना अंदाज में अपनी बात रखी है। चंद्रकला ने अपने लिंकडिन प्रोफाइल पर स्वरचित एक कविता साझा करते हुए लिखा है कि, ‘जानेमन, तुम छिप-छिप कर आना’। कविता के अंत में उन्‍होंने लिखा है कि छापा जांच की प्रक्रिया का एक हिस्सा मात्र है। चंद्रकला…

Read More

नेचुरल ब्यूटी से घिरे ढाका में है मिला-जुला इस्लामिक और बंगाली कल्चर

भारत के पड़ोसी देश के बारे में तो आपने सुना ही होगा… एक बड़ा ही खूबसूरत देश है… हम बात कर रहे हैं खूबसूरत बांग्लादेश की। बांग्लादेश की राजधानी ढाका घूमने के लिए बहुत ही अच्छी जगह है। यहां से भारत का कोई सरहदी दुश्मनी का नाता नहीं है न ही गोली लगने का डर, तो आप जा सकते हैं ढाका घूमने के लिए। यहां पर एक्सप्लोर के लिए बहुत कुछ है। नेचुरल ब्यूटी से घिरे ढाका में मिला-जुला…

Read More

चौ चरण सिंह : एक प्रधानमंत्री जिसने किसानों के अधिकारों और हितों को पहनाया कानूनी अमली जामा !

हिंदुस्तान को भले ही कृषि प्रधान देश कहा जाता हो लेकिन किसानों के हालात यहां बदतर हैं । आजाद भारत मे देश में ऐसा भी एक प्रधानमंत्री हुआ है जिसने किसानो के अधिकारों और हितों को कानूनी अमलीजामा पहनाया । देश उन्हें किसान मसीहा के रूप में जानता है । हम बात कर रहे हैं पूर्व प्रधानमंत्री चौ चरण सिंह की । आज 23 दिसंबर के दिन उनकी जयंती पर देश किसान दिवस मनाता है । पढ़िए उनका संक्षिप्त…

Read More

शायर मुनव्वर राना का बड़ा बयान,बोले- ‘मर्दों के साथ भी होता है #MeToo, पर पुरुष रहते हैं चुप’

शाहजहांपुर | अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त शायर मुनव्वर राना ने बॉलीवुड से लेकर राजनीति तक में तूफान खड़ा करने वाले मी टू के सवाल मर्दों की हिमायत करते हुए कहा कि बहुत से मर्दों के साथ भी मी टू होता है, पर इसे कोई भी मानेगा नहीं। मर्द एक ऐसे दुकानदार की तरह होकर रह गया है, जो किसी को मारे या मार खाए। बेईमान दुकानदार ही कहलाएगा। मी टू में शामिल 99 प्रतिशत महिलाएं ढेर सारे मी टू में…

Read More

पढ़िए यह व्यंग्य- मिठाई की दीपावली यात्रा !

दीपावली से एक दिन पहले हमने मिठाई का जो पैकिट कपूरजी के यहां भिजवाया था, अगली सुबह वर्माजी वही डिब्बा लेकर हमारे यहां तशरीफ लाए। हम पति पत्नी जब कपूरजी के यहां गए थे तो यह अच्छा ही हुआ कि श्रीमती कपूर बाज़ार गई हुई थीं, नहीं तो उन्हें ज़रूर शक हो जाता कि डिब्बे में बढ़िया मिठाई तो नहीं होगी तभी सुन्दर चमकते कागज़ में पैक करके लाए हैं। श्रीमती कपूर जानती थीं कि आजकल पैकिंग का ज़माना…

Read More

दुखद : उर्दू के साहित्यकार पद्मश्री काज़ी अब्दुल सत्तार का निधन, शोक की लहर

अलीगढ़ । उर्दू के साहित्यकार पद्मश्री काज़ी अब्दुल सत्तार (85) नहीं रहे। उनकी रविवार को देर रात दिल्ली में उपचार के दौरान मौत हो गई। सोमवार को शाम चार बजे उनके शव को एएमयू कब्रिस्तान में सुपर्द-ए- खाक किया जाएगा। उर्दू के प्रख्यात साहित्यकार पद्मश्री प्रोफेसर काजी अब्दुल सत्तार का रविवार रात उपचार के दौरान दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल में निधन हो गया। वह 85 वर्ष के थे और पिछले डेढ़ महीने से अस्पताल में भर्ती थे।…

Read More

डाकू रत्नाकर को राम नाम के जाप ने बना दिया महर्षि वाल्मीकि

महर्षि वाल्मीकि का वास्तविक नाम रत्नाकर था। इनका पालन पोषण भील समुदाय में हुआ था। भील राहगीरों को लूटने का काम करते थे और वाल्मीकि भी इस काम में लिप्त थे। हालांकि इसे लेकर कई और बाते भी पढ़ने को मिलते है। कुछ मान्यताओं के अनुसार यह भी कहा जाता है कि इनका जन्म महर्षि कश्यप और अदिति के नवे पुत्र वरुण से हुआ था। कुछ लोग भृगु को इनका भाई मानते है। वाल्मीकि जी के ह्रदय परिवर्तन में…

Read More

चर्चाओं में पत्रकार इकराम की पुस्तक ‘कौम का कोहिनूर’, इतिहास का बनेगी हिस्सा

अलीगढ़। शाहजमाल स्थित ऐतिहासिक ईदगाह पर लिखी गयी ‘कौम का कोहिनूर’ पुस्तक का विमोचन शुक्रवार को हुआ। पुस्तक इतनी सराही गयी कि विमोचन समारोह में ही 500 प्रतियां बिक गयीं। स्मार्ट विलेज फाउंडेशन ने भी 100 प्रतियां खरीदकर गंगा जमुनी जज्बातों को बढ़ावा दिया। वक्ताओं ने कहा कि ये पुस्तक निश्चित ही इतिहास का हिस्सा बनेगी। विमोचन ऊपरकोट स्थित शम्स प्लाजा में हुआ। समारोह अध्यक्ष शहर मुफ़्ती मोहम्मद खालिद हमीद ने कहा पुस्तक के लेखक इकराम वारिस ने 1984…

Read More

हँसना जरूरी है, ईटिंग मनी, नो पापा……….!

सरकार बहुत शाणी है. पब्लिक उससे ज्यादा शाणी है और बिज़नेसमैन परम शाणे हैं. सरकार ने ज्यादातर बिज़नेस चलाना बंद कर दिया पर बिज़नेसमैन लोगों ने सरकार चलाना बंद नहीं किया.सरकार ने बिज़नेस करना छोड़ दिया बहुत पहले कि सचमुच के बिज़नेसमैन लोगों से कंपटीशन में टिक नहीं पाती थी. सरकार बहुत पहले ब्रेड बनाती थी-माडर्न ब्रेड.प्राइवेट सेक्टर के बिज़नेसवाले- ब्रेड वाले सरकार को हरा देते थे. सरकार ने ब्रेड बनाना बंद कर दिया. एक जमाने में सरकार मारुति…

Read More