अलीगढ़ में AMU के टेलर की गोली मारकर हत्या, भीड़ ने एक हमलावर को पकड़कर पीटा, वीडियो हुआ वायरल

अलीगढ़ । बदमाशों ने शहर में बड़ी वारदात को अंजाम दिया है । क्वार्सी क्षेत्र के नगला मल्लाह में शुक्रवार शाम मस्जिद से नमाज अदा कर घर लौट रहे अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के टेलर की गोली मारकर हत्या कर दी गई। भाग रहे एक हमलावर को भीड़ ने दबोच लिया और पिटाई कर घायल कर दिया। फिर पुलिस को सौंप दिया। पुलिस हत्या के पीछे अवैध संबंध मानकर जांच कर रही है।

नगला मल्लाह में टेलर की दुकान करने वाले सरफुद्दीन अब्बासी के दो बेटे व दो बेटियां हैं। बड़े बेटे 20 वर्षीय सलमान एएमयू में संविदा पर टेलर थे। सलमान शाम करीब छह बजे मोहल्ले में ही मस्जिद से नमाज अदा कर पैदल घर लौट रहे थे। मोहल्ले के ही वाहिद के बेटे की मौत होने पर गमी में शामिल होने वालों की गली में भीड़ लगी थी। तभी सलमान को पीछे से आए तीन हमलावरों ने घेर लिया और ताबड़तोड़ फायरिग कर दी। एक गोली सलमान के सीने व दूसरी कंधे में जा धंसी। गोली लगते ही सलमान खून से लथपथ होकर जमीन पर गिर पड़े। हमलावर भागने लगे। गोली चलने की आवाज सुनकर भीड़ शोर मचाते हुए हमलावरों के पीछे दौड़ पड़ी। एक हमलावर ई-रिक्शा चालक शाहिद निवासी हमदर्द नगर सिविल लाइन को दबोच लिया और उसकी पिटाई कर दी। पिटाई से घायल शाहिद को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसके दो साथी भाग गए। सलमान को राहगीरों ने पुलिस की मदद से जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

इस बाबत सीओ सिविल लाइन अनिल समानिया ने बताया कि सलमान की हत्या करने वाले इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए हैं। उन्होंने बताया कि प्रथमदृष्टया मामला अवैध संबंधों से जुड़ा प्रतीत हो रहा है, फिर भी जांच की जा रही है। सलमान के पिता ने शाहिद व दो अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। रात में ही शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा था।