दिग्विजय सिंह के खिलाफ साध्वी प्रज्ञा पर दांव खेलने जा रही भाजपा

भोपाल। कांग्रेस के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ भाजपा भोपाल से किस प्रत्याशी को उतार रही है उस पर बना संशय अब खत्म होने वाला है। नाम न लिखे जाने की शर्त पर भाजपा सूत्रों ने बताया कि भोपाल सीट से पार्टी ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर सिंह के नाम पर मुहर लगाई है। बता दें कि बुधवार को ही साध्वी प्रज्ञा ने आधिकारिक तौर पर भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है।साध्वी प्रज्ञा द्वारा बीजेपी का दामन थामे जाने के बाद भोपाल सीट से उनको उम्मीदवार बनाए जाने की अटकलें भी तेज हो गईं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अभी भी भोपाल में स्थित पार्टी दफ्तर में साध्वी प्रज्ञा के नाम पर वरिष्ठ नेता रामलाल, शिवराज सिंह चौहान, सुहास भगत, अनिल जैन और प्रभात झा चर्चा कर रहे हैं।

कौन है प्रज्ञा ठाकुर

मालेगांव विस्फोट मामले से सुर्खियों में आई साध्वी प्रज्ञा ठाकुर सिंह मध्य प्रदेश के एक मध्यमवर्गीय परिवार से आती हैं। पिता आयुर्वेदिक डॉक्टर थे और पहले से ही संघ से जुड़े हुए थे। जिसकी वजह से प्रज्ञा ठाकुर का जुड़ाव संघ और विहिप से हो गया। हालांकि, बाद में प्रज्ञा ने संन्यास धारण कर लिया था। बता दें कि साल 2008 में उन्हें मालेगांव बम विस्फोट मामले में गिरफ्तार कर लिया गया था। जिसके बाद 9 साल तक जेल में वक्त गुजारने के बाद प्रज्ञा ठाकुर को साल 2017 में जमानत मिली। हालांकि, उन्हें सभी आरोपों से दोषमुक्त कर दिया गया। 

एक नजर भोपाल सीट पर

मध्य प्रदेश की भोपाल सीट पर करीब 3 दशक से भाजपा का कब्जा है। इस सीट पर 1984 में कांग्रेस नेता शंकर दयाल शर्मा ने जीत दर्ज की थी, जो देश के राष्ट्रपति भी रह चुके हैं। हालांकि, 1989 में इस सीट पर भाजपा ने कब्जा किया और सुशील चंद्र वर्मा सांसद बने। फिर 1999 में उमा भारती ने जीत दर्ज की हालांकि मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। वर्तमान में इस सीट का प्रतिनिधित्व अशोक सांझर कर रहे हैं।