बाबरी ढांचा विध्वंस पर फैसले के बाद बोले आरोपी- ‘अयोध्या तो बस झांकी है, काशी-मथुरा बाकी है…

लखनऊ | अयोध्या में बाबरी ढांचा विध्वंस पर फैसला आने के बाद मामले में आरोपी रहे लोगों ने खुशी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि सत्य की जीत हुई है। आचार्य धर्मेंद्र ने फैसले के बाद मीडिया को दिए गए बयान में कहा कि अयोध्या तो बस झांकी है। काशी-मथुरा बाकी है। जहां-जहां दाग हैं, सब साफ किया जाएगा। विदित हो कि इसके पहले विध्वंस में आरोपी रहे विनय कटियार ने भी बयान दिया था कि अयोध्या की तरह अब काशी-मथुरा को भी मुक्त कराएंगे। हम आंदोलन के तैयार हैं।

बताते चलें कि अयोध्या में छह दिसंबर 1992 को ढहाए गए विवादित ढांचे के मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने बुधवार को फैसला सुनाते हुए भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, उमा भारती, विनय कटियार समेत सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया है। 28 वर्ष तक चली सुनवाई के बाद न्यायाधीश एसके यादव ने फैसला सुनाते हुए कहा कि ढांचा विध्वंस की घटना के पूर्वनियोजित होने के साक्ष्य नहीं मिले हैं। सीबीआई द्वारा लगाए गए आरोपों के खिलाफ ठोस सबूत नहीं हैं। मामले से जुड़े सभी आरोपियों को बरी किया जाता है।

https://www.youtube.com/watch?v=QE32qv4m9JQ

दरअसल, कोर्ट के फैसले पर देश भर की नजरें थीं। जिसे लेकर प्रशासन ने सुरक्षा के जबरदस्त इंतजाम किए थे। फैसले के बाद अयोध्या सहित देश में कई जगहों पर लोगों ने जश्न मनाया और कहा कि सत्य की जीत हुई है। लोगों ने मिठाइयां बांटकर खुशी मनाई।