AMUSU : अब्दुलाह वीमेंस कॉलेज की अध्यक्ष बनी आफरीन फातिमा, उपाध्यक्ष नाहिद असद और सचिव मेमूना अंसारी जीतीं

अलीगढ | अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के अब्दुल्ला वीमेंस कॉलेज में आफरीन फातिमा अध्यक्ष चुनी गईं। देर रात चुनाव अधिकारियों ने परिणाम की घोषणा की और बताया कि आफरीन ने अपनी प्रतिद्वंदी को 1098 वोट से हराया है। वहीं उपाध्यक्ष पद पर नाहिद असद 645 वोटों से जीत हासिल की। सचिव मेमूना अंसारी ने 698 वोटों से अपनी प्रतिद्वंदी उम्मीदवार को हराया। अध्यक्ष पद पर आफरीन फातिमा को कुल 1726 वोट मिले। वहीं दूसरे नंबर पर 628 वोट के साथ सिदरा इसरत और तीसरे नंबर पर 623 वोट के साथ सिमरा कयाम रही। उपाध्यक्ष पद पर नाहिद असद ने 1311 वोट हासिल करके जीत हासिल की। वहीं दूसरे नंबर पर रही रुकसान को 666 वोट ही मिले। सचिव पर पर मेमूना अंसारी ने 1224 वोट हासिल किए। वहीं दूसरे नंबर पर सुमैरा आरिफ अंसारी को 526 वोट और जवेरिया बानो को 201 वोट ही मिले।

परिणाम जारी होते ही छात्राओं में जश्न का माहौल शुरू हो गया। वहीं कैबिनेट मैंबर के लिए आठ सदस्यों की घोषणा की गई। इसमें पहले नंबर पर 1624 वोट के साथ आफरीन खान रही, दूसरे पर अलीना राब को 1614, तीसरे पर आफरीन को 1490, चौथे पर अलवीना रहमान को 1483, पांचवे पर नाबा रहमान को 1453, छठे पर हाला मंसूर को 1424, सातवें सना हबीब को 1405 और आठवें पर रही सुमैना शौकत ने 1378 वोट हासिल करके कैबिनेट सदस्यों में अपना स्थान बनाया। कैबिनेट सदस्यों के 8 पदों के लिए कुल 12 उम्मीदवार मैदान में थी। देर रात चुनाव अधिकारी प्रोफेसर हिना परवेज ने कॉलेज के ऑडीटोरियम में परिणामों की घोषणा की, जिसके बाद विजेता छात्राओं और उनके समर्थकों में जश्न का माहौल छा गया। चुनाव अधिकारियों द्वारा परिणाम की घोषणा होने के बाद विजेताओं का जश्न शुरू हो गया। विजेता छात्राओं ने अपनी समर्थकों के साथ कॉलेज कैंपस में घूमकर जश्न मनाया। समर्थक अपनी उम्मीदवार के पक्ष में जमकर नारेबाजी करती रही और झूमती नाचती रही। वहीं हारने वाली उम्मीदवार छात्राएं शांति से अपनी हार स्वीकार करके अपने हॉस्टल की ओर चली गई।

विजेता छात्राओं की हुंकार-
अध्यक्ष आफरीन फातिमा ने कहा कि चुनाव के पहले जितने भी वादे किए थे, उन पर कल से ही काम शुरू कर दिया जाएगा। सबसे पहला एजेंडा यही रहेगा कि वीमेंस कॉलेज की छात्राओं के साथ अब किसी तरह का भेदभाव न किया जाए। एएमयू कैंपस की तरह ही वीमेंस कॉलेज को भी हर तरह की सुविधाएं मिले और यह समय से हम तक पहुंचे। छात्राओं को उनके अधिकार दिलाने के लिए लगातार काम किया जाएगा। कालेज में सप्ताह के सातों दिन मेडिकल व्यवस्था, किताबें, पीने का पानी की व्यवस्था जल्दी ही पूरी की जाएगी।

उपाध्यक्ष नाहिद असद ने कहा कि कॉलेज में शिक्षा का स्तर बेहतर करने के लिए काम किया जाएगा। हमारे यहां सबसे ज्यादा परेशानी किताबों की है, जिन्हें दूर कराने के लिए एएमयू प्रबंधन से बातचीत की जाएगी और इसे जल्दी से जल्दी दूर कराया जाएगा। इसके साथ यहां शैक्षणिक कार्यशालाएं, प्रतियोगी परीक्षा की तैयारियों के लिए विशेष कक्षाएं, लाइब्रेरी में नए लेखकों की लेटेस्ट किताबें और प्रतियोगी परीक्षा की जानकारी देने के लिए अलग से डिपार्टमेंट बनाने के लिए काम किया जाएगा। जिससे यहां की छात्राएं विभिन्न उच्च पदों की तैयारी कर सकें।

सचिव मेमूना अंसारी ने जीत के बाद कहा कि सबसे पहले वीमेंस हॉस्टल की परेशानियों को दूर करने के लिए प्रयास करुंगी। यहां हॉस्टल का हाल काफी खराब है, छात्राओं के रहने के लिए कमरे नहीं है और उन्हें कॉमन रूम, रीडिंग रूम और लाइब्रेरी में रहना पड़ता है। इसके साथ हॉस्टल में जनरेटर की व्यवस्था नहीं है। डिस्पेंसरी शाम 4 बजे बंद कर दी जाती है, इसलिए सबसे पहले 24 घंटे शुरू कराई जाएगी। इसके साथ पार्किंग व्यवस्था, साफ सफाई जैसी व्यवस्थाओं को भी सुधारा जाएगा। जब तक यह व्यवस्थाएं दुरुस्त नहीं होंगी लगातार प्रयास किए जाएंगे।