#अलीगढ़ में नकली #शराब की फैक्ट्री पकड़ी एक #गिरफ्तार

अलीगढ़ | अकराबाद थाना क्षेत्र के गांव सिकंदरपुर के एक घर में चल रही नकली शराब बनाने की एक फैक्ट्री शुक्रवार को पकड़ी गई। पुलिस ने मकान मालिक को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है, जबकि उसके तीन साथी फरार होने में कामयाब रहे। मौके से 29 पेटी नकली शराब के अलावा इसे बनाने में इस्तेमाल होने वाला रसायन, रंग व होलोग्राम आदि सामान बरामद हुआ है। यह शराब एक देसी ठेके की आड़ में सप्लाई की जाती थी। पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता में एसएसपी अजय कुमार साहनी ने बताया कि थाना अकराबाद पुलिस को गांव सिकंदरपुर में नकली शराब बनाने की सूचना मिली।

इसके बाद रजनीश के मकान पर दबिश दी गई। वहां रजनीश सहित चार व्यक्ति अवैध शराब का निर्माण व पैकिंग कर रहे थे। मौके पर पकड़े गए रजनीश ने बताया कि जो तीन लोग छत से भागे हैं उनमें अनिल कुमार पुत्र कृपाल भी था। उसका गांव खान आलमपुर थाना हरदुआगंज में देसी शराब का ठेका है। उसी की आड़ में यह शराब खपाई जाती थी। कुछ शराब हरियाणा से लाते थे। इसके अलावा रसायन व रंग मिलाकर शराब तैयार कर खाली शीशियों में भरकर उत्तर प्रदेश सरकार का नकली होलोग्राम, मोनोग्राम, ढक्कन लगाकर सप्लाई करते थे।

एसएसपी ने बताया कि अभियुक्त शातिर किस्म के अपराधी हैं। वे लंबे समय से नशीले पदार्थों के अवैध कारोबार में लिप्त हैं। वर्ष 2006 में रजनीश को साथियों के साथ थाना न्यू आगरा से चरस के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। अभियुक्त अनिल का भाई मोहित वर्ष 2015 में थाना लोधा से हरियाणा से लायी गई अवैध शराब के साथ गिरफ्तार किया गया था। टीम में थाना प्रभारी विनोद कुमार, सब इंस्पेक्टर शमीम अहमद, सिपाही रोहित, अनुराग, सुमंत शामिल रहे।

: फरार आरोपी
1- धर्मवीर पुत्र भीकम सिंह, निवासी सिकंदरपुर, अकराबाद
2- विवेक उर्फ विशाल पुत्र रजनीश कुमार, निवासी सिकंदरपुर, अकराबाद
3- अनिल पुत्र कृपाल सिंह, निवासी सिकंदरपुर, अकराबाद