अलीगढ में पुलिस चौकी के पास बजरंग दल कार्यकर्ता को पीटा, जमकर हुआ हंगामा

अलीगढ | बन्नादेवी थाना क्षेत्र के चूहरपुर में दो पक्षों में चली आ रही रंजिश ने शुक्रवार को फिर से तूल पकड़ गया। रघुवीरपुरी पुलिस चौकी के पास बजरंगदल के कार्यकर्ता को आधा दर्जन लोगों ने घेर मारपीट कर मरणासन्न अवस्था में नाले में फेंक दिया। पीड़ित युवक अचलताल स्थित बजरंगदल कार्यालय से घर वापस घर लौट रहा था।

सूचना पर पहुंचे बजरंगदल कार्यकर्ताओं ने कार्रवाई की मांग करते हुए थाने का घेराव कर लिया। मोहल्ला चूहरपुर निवासी अजीत पुत्र चरन सिंह बजरंगदल कार्यकर्ता हैं। पीड़ित के मुताबिक शुक्रवार को दो पक्षों में अचलताल स्थित बजरंगदल कार्यालय पर मीटिंग होनी थी। दूसरे पक्ष के लोग कार्यालय पर पहुंच गए। जबकि जाटव समाज के लोग वहां नहीं पहुंचे। देर रात तक इंतजार करने के बाद अजीत अपने चार साथियों के साथ बाइक से घर वापस आ रहा था। आरोप है कि रघुवीरपुरी पुलिस चौकी के पास आधा दर्जन युवक मिल गए। आरोपियों ने अजीत की बाइक को रोक लिया और मारपीट दी। मामला बढ़ता देख अजीत के साथी मौके से भाग गए। हमलावर ने अजीत को मरणासन्न अवस्था में नाले में फेंककर भाग गए। इसके बाद किसी तरह अजीत नाले से निकलकर घर पहुंचा और आपबीती बताई।सूचना मिलते ही पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने घायल अजीत को मेडिकल कराने के लिए जिला अस्ताल भेज दिया। उधर, खबर मिलते ही काफी संख्या में बजरंगदल के कार्यकर्ता थाने पर पहुंच गए। कार्यकर्ताओं ने कार्रवाई की मांग करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। सूचना मिलते ही सीओ द्वितीय संजीव कुमार दीक्षित भी पहुंच गए। पीड़ित परिजनों कर तहरीर पर पुलिस ने शिवा, योगेंदे समेत पांच नामजद और दर्जनभर अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है।

पांच माह से धधक रही थी आग –
बीते 29 जनवरी को दोनों पक्षों के बीच विवाद हुआ था। जिसमें एक पक्ष के लोगों ने युवक को कमरे में बंधक बनाकर तमंचे की बटों से पीटा था। आरोप है कि पुलिस से कई बार शिकायत की गई, मगर पुलिस ने गंभीता नहीं दिखाई। अगर पुलिस सक्रिय होती तो यह घटना दोबारा नहीं होती। अब पीड़ित पक्ष शनिवार को एसएसपी से मिलेगा।

सीओ संजीव दीक्षित ने बताया कि बाहरद्वारी पर दो पक्षों में विवाद हुआ था। पीड़ित पक्ष की ओर से तहरीर मिल गई है। हमलावरों की तलाश में दबिश दी जा रही है। जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। तनाव जैसी कोई बात सामने नहीं आई |