अखिलेश पर भारी पड़ रहे शिवपाल यादव, सैफई में उमड़ा जनसैलाब, सपाइयों की उड़ी नींद

लखनऊ | समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो अखिलेश यादव पर सेक्युलर मोर्चा के संस्थापक और अखिलेश के चाचा शिवपाल यादव पहले दौर की लड़ाई में भारी पड़ते दिख रहे हैं | सैफई में शिवपाल यादव के स्वागत में उमड़े जनसैलाब ने सपाइयों की नींद उड़ा दी है | सैफई के स्टेडियम में स्कूली खेलकूद कार्यक्रम के नाम पर भीड़ जुटाकर पूर्व लोक निर्माण मंत्री शिवपाल ने अपनी ताकत दिखाई। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सेक्युलर मोर्चा प्रदेश के छोटे-छोटे दलों से सहयोग लेकर मजबूती से आगे बढ़ रहा है और छोटे-छोटे दल साथ आते हैं तो किसानों-बेरोजगारों की लड़ाई मजबूती से लड़ी जा सकती है। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि इटावा, मैनपुरी, फिरोजाबाद, मथुरा, दिल्ली, नोएडा से यहां सभा को सुनने लोग आए, उनको इतनी उम्मीद नहीं थी। उन्होंने बताया कि महागठबंधन की जो बात कर रहे हैं उस समय जब महागठबंधन हो रहा था तब किसी ने मुझसे किसी प्रकार की बात नहीं की। जब किसी ने कोई बात नहीं की तो मैंने भी निर्णय लेकर समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाया है। जनता का जो प्यार मुझे मिल रहा है उसका बहुत बहुत धन्यवाद। कहा कि केंद्र में जो भी सरकार बनेगी वो बिना समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के नहीं बनेगी। सपा से सुलह आने के प्रस्ताव पर बोले कि अब कोई भी प्रस्ताव आ जाए अब जो कदम आगे बढ़ गया है। वो कदम अब किसी कीमत पर पीछे नहीं होगा। मैंने बहुत से मौके दिए लेकिन कुछ नहीं हुआ। वहीँ शिवपाल सिंह यादव की गाड़ी पर आज सेक्युलर मोर्चा का नया झंडा लगा दिखा। तीन रंग (लाल-पीला और हरा) के झंडे पर एक तरफ मुलायम सिंह यादव और दूसरी तरफ शिवपाल सिंह फोटो नजर आई।

समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के संस्थापक शिवपाल सिंह यादव ने सोमवार को भाजपा सरकार को हर मायने में फेल बताते हुए कहा कि प्रदेश के किसानों को फसल का वाजिब मूल्य नहीं मिल रहा है और बेरोजगारों की संख्या बढ़ रही है। यह समय संघर्ष का है। सेक्युलर मोर्चा किसान-बेरोजगार नौजवानों की लड़ाई लड़ेगा। कार्यक्रम में पूर्व राज्यमंत्री राम सेवक गंगापुरा, पूर्व विधायक रघुराज शाक्य, पूर्व विधायक सुखदेवी वर्मा, महावीर सिंह यादव खन्ना यादव, डॉ ब्रजेश यादव, कृष्णमुरारी गुप्ता, इसरार सिद्दीकी, अजेंद्र सिंह गौर, अनुज मोंटी यादव आदि मौजूद रहे। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि उन्होंने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन काफी सोच विचार कर किया है। क्योंकि घर बैठे लोगों का सम्मान नहीं हो रहा है। वे उपेक्षित हैं उन सबको एक किया जा रहा है। इसमें जब समान विचार धारा वाले लोग जुड़े होंगे तो उन सबको इक्कठा करके बड़ी ताकत बनाएंगे। देश व प्रदेश की तस्वीर ओर तकदीर बदलेंगे।

मुलायम सेक्युलर मोर्चे से लड़ सकते हैं चुनाव !
भतीजे अखिलेश की साइकिल रैली के बाद सोमवार को चाचा शिवपाल सिंह ने शक्ति प्रदर्शन के साथ सैफई में प्रवेश किया। इस दौरान पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव का जगह-जगह जोरदार तरीके से स्वागत किया गया। कार्यकर्ताओं के हुजूम को देख पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव गदगद दिखे। इसके बाद कार्यकर्ताओं का जमकर उत्साह वर्धन किया। पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि नेताजी के आशीर्वाद से सेक्युलर मोर्चा का गठन हुआ है। नेताजी सेक्युलर मोर्चा की ओर 2019 में मैनपुरी से चुनाव लड़ सकते हैं। अगर वे सेक्युलर मोर्चा से चुनाव नहीं लड़ते हो तो भी सेक्लुयर मोर्चा का समर्थक नेताजी को चुनाव जिताने में सहयोग करेंगे। नेताजी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने का प्रस्ताव भी भेजा है। मोर्चा 80 सीटों पर चुनाव लडे़गा।