मेरठ में माहौल बिगाड़ने की कोशिश, फैसले पर खुशी मनाने वाले 7 गिरफ्तार, कई को कड़ी चेतावनी

मेरठ । अयोध्या प्रकरण में फैसला आने के बाद मेरठ में कुछ लोगों ने माहौल बिगाड़ने की कोशिश की। पुलिस ने सात लोगों को गिरफ्तार किया। कुछ स्थानों पर धारा-144 का उल्लंघन कर आतिशबाजी करने की सूचनाएं आई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर लोगों को दौड़ाया और सख्त हिदायत दी।

एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि ब्रह्मपुरी क्षेत्र के माधवपुरम में कुछ लड़के आतिशबाजी छोड़ रहे थे। सूचना पर पुलिस पहुंची और धीरेंद्र कुमार, मधुसूदन शर्मा व सुधांशु शर्मा निवासी माधवपुरम को गिरफ्तार कर लिया। उनके विरुद्ध धारा-144 उल्लंघन के तहत कार्रवाई की गई है। दोपहर 12.40 बजे मलियाना फाटक के नीचे कुछ लोगों को इकट्ठा कर अज्ञात व्यक्ति द्वारा मिठाई बांटने की सूचना आई। पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन कुछ नहीं मिला। जांच-पड़ताल में लोगों को इकट्ठा करने की पुष्टि हुई। एरा मॉल चौकी इंचार्ज सुखवीर सिंह ने अज्ञात के खिलाफ ब्रह्मपुरी थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।

नौचंदी पुलिस ने सोहराब गेट बस स्टैंड पर आतिशबाजी छोड़ रहे अपूर्व निवासी नेहरूनगर, सुरेंद्र निवासी फूलबाग कॉलोनी और प्रवीन निवासी चित्रकूट कॉलोनी को गिरफ्तार कर लिया। सूरजकुंड के एक मंदिर के पास आतिशबाजी छोड़ने की सूचना आई। पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन कोई नहीं मिला। सिविल लाइन पुलिस ने फेसबुक पर अयोध्या मामले से संबंधित आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में लक्ष्मण शर्मा नामक युवक को गिरफ्तार किया है। वह मथुरा में नौहझील थाना क्षेत्र के ग्राम भगवानगढ़ी का रहने वाला है। फिलहाल मेरठ के पांडवनगर इलाके में रह रहा था। उसके खिलाफ आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है।

मवाना में एक हिन्दू नेता के घर आतिशबाजी के बाद सीओ और एसडीएम पहुंचे। उन्होंने फटकार लगाते हुए कार्रवाई की चेतावनी दी। मवाना थाने के पीछे ही बाजार में आतिशबाजी की सूचना पर पहुंची पुलिस ने लाठियां फटकारकर भीड़ को दौड़ाया।