विदेशों से आई 5 हजार टन प्याज, मगर नहीं खरीद रहीं राज्य सरकारें, लोग परेशान

नयी दिल्ली। देश में प्याज के दाम आसमान को छूते हुए नजर आ रहे हैं। लद्दाख के करगिल में प्याज के दाम 140 रुपए किलो तो राजधानी दिल्ली में 100 रुपए किलो है। हालांकि इन दामों पर नियंत्रण पाने के लिए सरकार ने प्याज को विदेशों से आयात किया है। लेकिन राज्य सरकारें प्याज ही नहीं उठा रही हैं।

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य सरकारें करीब पांच हजार टन प्याज नहीं उठा रही हैं जिसे दूसरे देशों से मंगाया गया है। रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि जो राज्य की सरकारें हैं दरअसल वह नई प्याज के आने का इंतजार कर रही हैं, जिसकी वजह से प्याज के दामों में नरमी आ सकती है। लगातार बढ़ रहे प्याज के दामों को देखते हुए सरकार ने दूसरे देशों से प्याज को मंगाने की बात कही थी। जिसके बाद तुर्की, मिस्र, अफगानिस्तान और श्रीलंका से करीब 45 हजार टन प्याज का आयात करने का फैसला किया हालांकि पांच हजार टन प्याज का आयात हो चुका है।

मौजूदा हालात को देखते हुए लगता है कि अगर राज्य सरकारों ने प्याज को नहीं उठाया तो सरकार को काफी नुकसान होगा क्योंकि अभी सैकड़ों टन प्याज रास्ते में हैं और वह जल्द ही भारत पहुंचने वाली है। ऐसे में पुरानी प्याज ही राज्य सरकारों ने नहीं उठाई है तो फिर आने वाली प्याजों का क्या होगा ? जबकि एक्सपर्ट बताते हैं कि प्याज को ज्यादा दिनों तक स्टोर करके नहीं रखा जा सकता क्योंकि वह सड़ने लगती है।