UP board exam 2020 : 35 KM दूर परीक्षा देने जाएंगी छात्राएं, स्कूलों ने दर्ज कराई आपत्ति

यूपी बोर्ड हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाओं के लिए इस बार करीब 119 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। परीक्षा केन्द्रों को लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक की ओर से आपत्तियां मांगी गई है। अब तक दो सौ से अधिक स्कूल सिर्फ दूरी को लेकर आपत्तियां दर्ज करा चुके हैं। खासकर छात्राओं का परीक्षा केन्द्र दूर बनाए जाने से स्कूल सबसे अधिक परेशान हैं। माल के ससपन स्थित राजकीय हाईस्कूल का परीक्षा केन्द्र 15 किलोमीटर दूर मलिहाबाद स्थित कुंअर आसिफ अली इंटर कॉलेजों को बनाया गया है। मड़ियांव के न्यू होप कार्मल स्कूल के छात्र-छात्राओं का परीक्षा केन्द्र स्वतंत्र गर्ल्स इंटर कॉलेज आलमबाग को बनाया गया है। स्कूल प्रशासन का कहना है कि इतनी दूर छात्राएं कैसे परीक्षा देने जाएंगी। स्वामी विवेकानंद इंटर कॉलेज आलमबाग की छात्राओं का परीक्षा केन्द्र नारी शिक्षा निकेतन को बनाया गया है।

ऐसे तो पचास किलोमीटर दूर जाना पड़ेगा
ऐसे ही नालंदा पब्लिक इंटर कॉलेज गीतापल्ली के 60 छात्र-छात्राओं का परीक्षा केन्द्र नीलमथा स्थित महाकाली हायर सेकेंडरी स्कूल को बनाया गया है। यूपी बोर्ड की ओर से जारी की गई शिफ्टिंग सूची में खामियां सामने आने लगी है। जिले के 200 से अधिक स्कूलों ने दूरी को लेकर अपनी आपत्ति जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में दर्ज कराई हैं। राजकीय हाईस्कूल मवई सरोजनीनगर में हाईस्कूल की छात्राएं 35 किलोमीटर बिजनौर स्थित विमला इंटरनेशनल स्कूल में जाकर परीक्षाएं देंगी। आपत्ति दर्ज कराने का आज अंतिम दिन: परीक्षा केन्द्र को लेकर आपत्ति दर्ज कराने का गुरुवार को अंतिम दिन है। इसके बाद सारी आपत्तियां बोर्ड को भेजी जाएंगी। इसके बाद बोर्ड 20 नवम्बर तक सारी आपत्तियों का निस्तारण कर अंतिम सूची जारी करेगा।

ठाकुरगंज स्थित ब्राइट करियर इंटर कॉलेज के छात्र-छात्राओं को परीक्षा केन्द्र बप्पा श्री वोकेशनल इंटर कॉलेजों को बनाया गया है। स्कूल प्रशासन का कहना है कि स्कूल से तो परीक्षा केन्द्र की दूरी सात से आठ किलोमीटर है लेकिन स्कूल में ज्यादातर छात्राएं रहीमाबाद व काकोरी से आती है। जो परीक्षाएं देने स्कूल के बजाए अपने घर से जाती हैं। ऐसे में उनको 40 से 50 किलोमीटर दूर परीक्षा देने जाना पड़ेगा। ऐसी ही शिकायत कई स्कूलों ने शिक्षा विभाग से कही हैं।