कम उम्र में आपके घुटनों के दर्द की वजह बन सकती हैं यह आदतें

कुछ सालों पहले तक घुटनों में दर्द की समस्या बढ़ती उम्र में दिखाई देती थी क्योंकि उम्र बढ़ने के साथ शरीर में कैल्शियम की कमी होने लगती थी और घुटनों व हड्डी में दर्द होता था। लेकिन अब तो कम उम्र में ही लोग घुटनों में दर्द की शिकायत करते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो इसके पीछे आपकी कुछ गलतियां जिम्मेदार हो सकती हैं। तो चलिए आज हम आपको उन आदतों के बारे में बता रहे हैं, जो कम उम्र में ही घुटनों के दर्द की वजह बन सकती हैं−

हाई हील्स का शौक

अमूमन महिलाएं खुद को स्मार्ट दिखाने के लिए फुटवियर में हाई हील्स का प्रयोग करती हैं। लेकिन उनका यह शौक उनके पैरों के लिए बिल्कुल भी उचित नहीं होता। जो महिलाएं लगातार और लंबे समय तक हाई हील्स पहनती हैं, उन्हें न सिर्फ घुटनों में दर्द होता है, बल्कि पैरों की एडि़यों में दर्द, शरीर का आकार बिगड़ना, कमर की चर्बी बढ़ना जैसी कई समस्याएं होती है। इसलिए अगर संभव हो तो फलैट्स की प्रेफर करें। अगर आपको पार्टी में जाना है और आप हील्स पहनना चाहती हैं तो पेंसिल हील के स्थान पर प्लेटफार्म हील्स को प्राथमिकता दें। 

ट्रेडमील जरा सोच−समझकर 

आजकल लोग खुद को फिट रखने के लिए जिम का रूख करते हैं और कार्डियो में ट्रेडमील को प्राथमिकता देते हैं। लेकिन अगर आप ट्रेडमील पर कुछ ज्यादा ही देर दौड़ते हैं तो यह आदत घुटनों के लिए सही नहीं है। ऐसा करने से घुटनों पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है और इससे घुटने के कार्टिलेज घिसने लगते हैं। इसलिए ट्रेडमील पर दौड़ें, लेकिन समय−सीमा व स्पीड का भी पूरा ख्याल रखें। वैसे ट्रेडमील के अतिरिक्त जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज करने से भी घुटने जल्दी खराब होने लगते हैं। आवश्यकता से अधिक एक्सरसाइज करने पर घुटनों के आस−पास की मसल्स पर बुरा असर पड़ता है और वो क्षतिग्रस्त होने लगते हैं।

पाश्चर का ख्याल

गलत पॉश्चर सिर्फ कमर दर्द या गर्दन में दर्द की वजह ही नहीं बनता, बल्कि इसका असर आपके घुटनों पर भी पड़ता है। दरअसल, जब आप पैर पर पैर चढ़ाकर बैठते हैं तो इससे घुटनों पर दबाव पड़ता है और घुटने में दर्द की शिकायत शुरू हो जाती है। इसलिए बेहतर होगा कि आप उठते−बैठते समय अपने बॉडी पॉश्चर पर विशेष ध्यान दें। 

जरूरत से ज्यादा वजन

आपकी गलत लाइफस्टाइल के कारण अगर आपका वजन बढ़ता ही जा रहा है तो समझ लीजिए कि आपको घुटनों के दर्द से कभी भी निजात नहीं मिलने वाला। जिन लोगों का वजन अधिक होता है और अगर वह लंबे समय तक खड़े रहते हैं तो इसका सीधा प्रभाव पैरों पर पड़ता है और घुटनों में दर्द की समस्या शुरू हो जाती है।